आज भारत को मिलेगा पहला राफेल जेट, राजनाथ सिंह फ्रांस में करेंगे शस्त्र पूजा

 भारतीय वायुसेना दिवस (Indian Air Force day) और विजयादशमी (Vijayadashami 2019) के शुभ अवसर पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh)आज फ्रांस की राजधानी पेरिस में भारतीय परंपरा के अनुसार शस्त्र पूजा (Arms worship) करेंगे. विधिवत शस्त्र पूजा (Arms worship) के बाद रक्षामंत्री फ्रांस की कंपनी दसॉ से खरीदे गए लड़ाकू विमान राफेल (Rafale) का अधिग्रहण करेंगे और विमान में उड़ान भी भरेंगे. 

वायुसेना दिवस (Air Force day) के मौके दिल्ली स्थित वॉर मेमोरियल पर तीनों सेना प्रमुखों ने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की.

राफेल (Rafale) उन्नत प्रौद्योगिकी से लैस लड़ाकू विमान है
दसॉ के साथ हुए सौदे की पहली खेप में भारत विजयादशमी (Vijayadashami 2019) के मौके पर 36 राफेल (Rafale) विमान हासिल करेगा. भारत में शस्त्र पूजा (Arms worship) की परंपरा अनादिकाल से चली आ रही है. महाराणा प्रताप की इस धरती पर राजपूत राजा दुश्मनों को रणभूमि में छक्के छुड़ाने से पहले अस्त्र-शस्त्र की पूजा करते रहे हैं. इसी परंपरा का पालन करते हुए भारतीय सेना में भी विजयादशमी (Vijayadashami 2019) के दिन शस्त्र पूजा (Arms worship) की जाती है. शायद इसी परंपरा को निभाने के लिए राफेल (Rafale) विमान का अधिग्रहण विजया दशमी के दिन हो रहा है.

दुश्मनों को नेस्तनाबूद कर देगा राफेल
आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को विजयादशमी (Vijayadashami 2019) मनाई जाती. इसी दिन भगवान राम ने लंका के राजा रावण पर विजय प्राप्त की थी. इसलिए विजया दशमी को आसुरी शक्तियों पर देवता की विजय के रूप में मनाया जाता है. शस्त्र पूजा (Arms worship) के साथ लड़ाकू राफेल (Rafale) के अधिग्रहण के पीछे शायद यही धारणा होगी कि यह विमान भारत की ओर आंख उठाने वाली हर ताकत को नेस्तनाबूद करने में देश के सैन्य बल के लिए अहम साबित होगा.

पाकिस्तान के पास ऐसा कोई विमान नहीं है
बताया जाता है कि भारतीय वायुसेना के बेड़े में इस लड़ाकू विमान के शामिल होने पर देश की सामरिक ताकत बढ़ेगी और दक्षिण एशिया में जहां पाकिस्तान का हमेशा शत्रुता का बर्ताव रहा है वह आंख उठाकर देखने की हिमाकत नहीं करेगा. रक्षा विशेषज्ञों की माने तो राफेल (Rafale) की क्षमता के समान पाकिस्तान के पास अब तक कोई विमान नहीं है.

सेवानिवृत्त एयर मार्शल एम. मथेश्वरण ने आईएएनएस को बताया, ‘पाकिस्तान के पास मल्टी रोल विमान एफ-16 है. लेकिन वह वैसा ही है जैसा भारत का मिराज-2000 है. पाकिस्तान के पास राफेल (Rafale) जैसा कोई विमान नहीं है.’ फ्रांस, मिस्र और कतर के बाद भारत चौथा देश होगा जिसके आकाश में राफेल (Rafale) विमान उड़ान भरेगा.

राफेल लाने तीन दिवसीय दौरे पर हैं राजनाथ सिंह
राफेल (Rafale) 4.5वीं पीढ़ी का विमान है जिसमें राडार से बच निकलने की युक्ति है. इससे भारतीय वायुसेना (आईएएफ) में आमूलचूल बदलाव होगा क्योंकि वायुसेना के पास अब तक के विमान मिराज-2000 और सुखोई-30 एमकेआई या तो तीसरी पीढ़ी या चौथी पीढ़ी के विमान हैं. रक्षामंत्री राफेल (Rafale) विमान लाने के लिए तीन दिवसीय दौरे पर सोमवार को फ्रांस जा रहे हैं. वह मंगलवार को फ्रांस में 36 राफेल (Rafale) विमान की पहली खेप प्राप्त करने के बाद विमान में उड़ान भी भरेंगे.

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

पीएम मोदी ने किया दावा, कहा- इस बार जीत के सारे रिकॉर्ड टूट जाएंगे

महाराष्ट्र के पर्ली में रैली को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने विरोधियों पर …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com