Breaking News

इराक ने तैनात किए 94 हजार सैनिक मोसुल को ISIS के कब्जे से छुड़वाने के लिए

तकरीबन दो साल पहले आतंकवादी संगठन ISIS से डरकर इराक की सेना ने मोसुल में अपने हथियार डाल दिए थे. अब आईएसआईएस की स्वघोषित राजधानी मोसुल को उसके चंगुल से छुड़वाने के लिए 94 हजार से ज्यादा सैनिकों को तैनात किया गया है. लेकिन बदले में आईएसआईएस भी लगातार हमले कर रहा है. बता दें कि सोमवार को इराक के प्रधानमंत्री हैदर अल अबादी ने मोसुल में लड़ाई की आधिकारिक घोषणा की थी.

2 साल में आबादी घटी
बता दें कि आईएस ने जून 2014 में मोसुल पर कब्जा किया था. तेल-संपदा से भरे इस शहर की आबादी उस वक्त 20 लाख से ज्यादा थी. लेकिन अब यह घटकर लगभग आधी यानी 10 लाख के आसपास रह गई है. आईएसआईएस ने बीते दो साल में इराक और सीरिया के कई शहर जैसे रमादी, तिकरित और फालूजा पर कब्जा किया लेकिन इराकी सेना ने इन शहरों को आतंकवादी संगठन से मुक्त करवाया.

अमेरिकी सेना का अनुमान है कि मोसुल में करीब 5000 आईएस आतंकी हैं, लेकिन आईएस के समर्थकों का कहना है कि वहां 7000 आतंकवादी हैं. इनसे लड़ने के लिए तैनात सैनिकों में से 54 हजार इराकी सेक्योरिटी फोर्स के, 4 हजार कुर्दिश पेशमर्गा लड़ाके, 9 हजार सुन्नी लड़ाके और 5000 अन्य अल्पसंख्यक समुदायों के लड़ाके शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*