ईरान परमाणु समझौता : संयुक्त राष्ट्र में चर्चा करेंगे अमेरिका और तेहरान

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ और ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ 2015 के ईरान परमाणु समझौते को लागू करने के विषय पर मंगलवार (30 जून) को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक को संबोधित करेंगे। संयुक्‍त राष्‍ट्र ने ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर हुए समझौते साझा व्यापक कार्ययोजना (Joint Comprehensive Plan of Action)के भविष्य पर मंडराते संदेह पर चिंता जताई है।

ट्रंप प्रशासन ने दो साल पहले अमेरिका को इस समझौते से हटा लिया था। संयुक्त राष्ट्र के सबसे ताकतवार निकाय की लंबे समय से निर्धारित इस खुली बैठक से एक दिन पहले ईरान ने इस साल की शुरुआत में बगदाद में अमेरिकी ड्रोन हमले में शीर्ष ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या के सिलसिले में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और कई अन्य को हिरासत में लेने में इंटरपोल से मदद मांगी और गिरफ्तारी वारंट जारी किए।

गौरतलब है कि वर्ष 2015 में ईरान ने परमाणु कार्यक्रम के मुद्दे पर सुरक्षा परिषद के पांच स्थाई सदस्यों अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस, चीन और जर्मनी के साथ एक समझौते पर हस्‍ताक्षर किए थे। इस समझौते को सुरक्षा परिषद ने प्रस्ताव 2231 के तहत समर्थन दिया था।परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर करने वाली पांच अन्य शक्तियां – रूस, चीन, ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी इसके प्रति प्रतिबद्ध हैं। उनका कहना है कि यह समझौता अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी द्वारा लगातार निरीक्षण के लिए और ईरान को परमाणु हथियार बनाने से भी रोकने के लिए अहम है।

आपको बता दें कि ये समझौता अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में हुआ था। इसको उन्‍होंने एक बड़ी उपलब्धि बताया था। सदस्‍य देशों ने भी माना था कि इस समझौते के बाद विश्‍व के ऊपर छाया संकट काफी हद तक टल गया है और इससे समूचे क्षेत्र में तनाव को कम करने में मदद मिलेगी।

लेकिन डोनाल्‍ड ट्रंप ने वर्ष 2018 से इस समझौते से खुद को ये कहते हुए अलग कर लिया था कि ये समझौता सही नहीं था और इससे अमेरिका को कुछ हासिल नहीं होने वाला। इसके बाद अमेरिका की तरफ से ईरान पर कड़े प्रतिबंध तक लगा दिए गए थे। इसके बाद जुलाई 2019 में ईरान ने भी खुद को इस समझौते से अलग कर लिया था। हालांकि समझौते पर हस्‍ताक्षर करने वाले अन्‍य सदस्‍यों ने दोनों ही देशों से इस डील को बरकरार रखने की अपील की थी।

 

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

अमेरिका में बाइडेन का शासन, 5लाख भारतीयों को मिलेगा फायदा…

अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप को मात देने वाले जो बाइडेन एक करोड़ …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com