Breaking News

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बोले अच्छे दिन का मतलब रोटी ,कपड़ा और मकान होता

इंडिया कॉन्क्लेव के दूसरे दिन जब कैबिनेट मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि अच्छे दिन वास्तव में कभी नहीं होते, यह मानने पर होते हैं, क्योंकि हर व्यक्ति अपने हालात से असंतुष्ट रहता है.जब नितिन गडकरी से पूछा गया के क्या बीजेपी 2019  में कहे पाएगी के अच्छे दिन आ गए है ? इस के जवाब में नीतिनि गडकरी ने कहा के अच्छे दिन नै होते है जो नगर सेवक होता है, वह इसलिए दुखी होता है कि वो एमएलए नहीं बना.

 

ये भी पढ़े -राज बब्बर ने अखिलेश यादव पर ली चुटकी

Image result for नितिन गडकरी

 

 

जो एमएलए होता वह सोचता है कि सांसद नहीं बना, सांसद सोचता है कि मंत्री नहीं बना. मंत्री सोचता है कि उसे अच्छा विभाग नहीं मिला. तो लोग हमेशा ऐसा ही सोचते हैं.
जिसके पास मोटरसाइकिल है वो भी दुखी है अच्छे दिन मानने पर होते हैं.और अच्छे दिन का मतलब रोटी कपड़ा और मकान होता है , अभी हाल ही में नार्थ ईस्ट में चुनाव हुए है कांग्रेस का क्या हाल हुआ है दिख रहा है .पीएम आवास योजना में क्या घर नहीं बन रहा? सागर माला प्रोजेक्ट में 16 लाख करोड़ का निवेश है. क्या ये अच्छे दिन नहीं हैं?’

हम( बीजेपी)  हम जीत रहे हैं, और करेल में अच्छा करेंगे.  बंगाल में भी  कांग्रेस जो 50 साल में नहीं कर सकी, हमने 4 साल में करके दिखाया है. सभी अपेक्षाएं 5 साल में पूरी हों ये संभव भी नहीं है. बीजेपी एक बार 2019 में फिर चुन कर आएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*