Breaking News

…चोर मचाए शोर, ऐसा क्यों कहा बीजेपी ने केजरीवाल को!

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की बेटी से जुड़े मामले में सीबीआई जांच से आम आदमी पार्टी में खलबली है. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने तो ट्विटर पर बीजेपी और पीएम मोदी के खिलाफ मोर्चा भी खोल दिया, लेकिन केजरीवाल की इस प्रतिक्रिया पर बीजेपी ने जवाब देने में ज़रा भी देर नहीं की.

बीजेपी के केंद्रीय मंत्री आरपी सिंह ने कहा कि ‘केजरीवाल जिस तरह से सीबीआई जांच के नाम पर बौखला गए हैं, उसके लिए तो वो यही कहेंगे कि चोर मचाए शोर. क्योंकि केजरीवाल जब मर्ज़ी सीबीआई पर भरोसा करते हैं और जब अपनी सहूलियत के हिसाब से देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी पर सवाल खड़े कर देते हैं. आरपी सिंह ने कहा कि तब तो केजरीवाल को सीबीआई पर भरोसा था, जब वो अपने भ्रष्ट मंत्री आसिम अहमद खान को बर्खास्त करके उसकी जांच सीबीआई को सौंपते हैं, लेकिन जब सीबीआई भ्रष्टाचार और सरकारी पैसे के दुरुपयोग के लिए उनके चहेते मंत्रियों के खिलाफ जांच शुरू करती है, तो वही सीबीआई उनके लिए केंद्र के इशारे पर काम करने वाली एजेंसी हो जाती है.’

आरपी सिंह के मुताबिक ‘टॉक टू एके’ प्रोग्राम में आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली के पैसे से पंजाब और गोवा में अपना प्रचार किया. इसके तो सारे सबूत हैं कि कैसे फेसबुक और यूट्यूब पर पंजाब और दूसरे राज्यों से लाइक पाने के लिए दिल्ली के लोगों के टैक्स की कमाई को उड़ाया गया. यही नहीं चुनावी राज्यों के अलावा भी रांची से लेकर बिहार और दक्षिण भारत में भी विज्ञापन छपवाए गए. क्या केजरीवाल बताएंगे कि इसकी वजह क्या है. क्योंकि दिल्ली के सरकारी खजाने को लुटाया गया.

सत्येंद्र जैन की बेटी से जुड़े मामले में भी दिल्ली सरकार के दावे पर आरपी सिंह ने सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि 15 दिन रुकिए सीबीआई की जांच में सभी चीजें साफ हो जाएंगी और सत्येंद्र जैन के इस दावे की भी जांच हो जाएगी कि उनकी बेटी को दिल्ली सरकार से कोई पैसा नहीं दिया गया.

बीजेपी अब इस बात को लेकर दिल्ली सरकार को घेरने की तैयारी में है कि दिल्ली में सर्दियों में भी 6 घंटे की बिजली कटौती हो रही है. कई इलाके सर्दियों में भी पानी के लिए तरस रहे हैं, जबकि सरकार ने दावा किया था कि न सिर्फ बिजली कटौती से राहत मिलेगी बल्कि आधी दरों पर बिजली मिलेगी. अब बीजेपी आरोप लगा रही है कि केजरीवाल पंजाब और गोवा में अपनी सरकार का गुणगान कर रहे हैं, जबकि दिल्ली की हकीकत ये है कि यहां न तो बिजली लोगों को मिल पा रही है, बल्कि फ्री पानी के बजाए लोगों को पानी मिलना ही बंद हो गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*