जब मदरसे में गूंजा गायत्री मन्त्र, जंहा में पढ़ते हे हिन्दू और मुस्लिम के बच्चे

358972243आगरा. एक तरफ जहां देश में विभिन्न धर्मों को लेकर वाद-विवाद छिड़ा रहता है वहीं एक मदरसा साम्प्रदायिक एकता की अनोखी नजीर पेश कर रहा है. इस्लामी शिक्षा का प्रतीक माने जाने वाले मदरसे से वैदिक मंत्रोच्चारण की भी आवाजें कानों की को सुनाई देती हैं. संयोग ही है कि यह मदरसा मोहब्बत की नगरी आगरा से महज दस किलोमीटर की दूरी पर स्थित है.

अगर आप आगरा के दरहेठी नंबर एक जाएं और आपके कानों को गायत्री मंत्र ॐ भूर्भुव: स्व: तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो न: प्रचोदयात्, सुनाई दे तो यकीन मानिए, यह किसी मंदिर या गुरुकुल से आ रही आवाज नहीं होगी. बल्कि यह यहां स्थित एक मदरसे से आ रही होगी.

मदरसा मोईनुल इस्लाम में कुरान की आयतो के साथ संस्कृत के कठिन श्लोकों का पाठ पढ़ाया जाता है. इस मदरसे के बच्चे उर्दू, हिंदी, अरबी, अंग्रेजी के अलावा संस्कृत भी पढ़ रहे हैं. यहां सैकड़ों बच्चे एक साथ कुरआन की आयतों के साथ-साथ गीता सार भी पढ़ रहे हैं.

दिलचस्प बात यह है कि इस मदरसे में केवल मुस्लिम बच्चे ही नहीं बल्कि हिन्दुओं के बच्चे भी पढ़ते हैं. इस मदरसे में कुल छात्रों की संख्या 375 है, इसमें मुस्लिम छात्र 275 हैं जबकि हिन्दू छात्रों की संख्या 100 है. हिन्दू और मुस्लिम दोनों को ही एक साथ कुरान, इस्लामी दीनियात, अरबी के साथ उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के सारे सब्जेक्ट्स पढ़ाए जाते हैं. यहां कुछ मुस्लिम छात्र ऐसे भी हैं जो उर्दू और अरबी से ज्यादा संस्कृत पढ़ना पसंद करते हैं तो कुछ हिन्दू छात्रों में संस्कृत और हिंदी से ज्यादा उर्दू और अरबी पढ़ने की ललक दिखाई देती है.

मदरसे में इन बच्चों को संस्कृत पढ़ाने वाले शिक्षक इख्तिखार हुसैन, मुश्ताक हाशमी को अपने छात्रों के इस हुनर पर गर्व है. वे बिना भेद-भाव किए अपने छात्रों को पूरी तल्लीनता के साथ पढ़ाते हैं. अपने मुस्लिम छात्रों की संस्कृत में रूचि और प्रतिभा को देखकर प्रिंसिपल मौलाना उजैर आलम भी आश्चर्यचकित हो जाते हैं. उनके मुताबिक मुस्लिम बच्चों को संस्कृत पढ़ाना एक नेक विचार. वे कहते हैं कि जब हिन्दू बच्चे उर्दू व अरबी की पढ़ाई कर सकते है तो मदरसे में संस्कृत की शिक्षा क्यों नहीं. वे बड़े फख्र के बात बताते हैं कि उनके मदरसे में हिन्दू और मुस्लिम छात्र दोनो भाषा की तालीम ले रहे है.

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

‘हिममानव’ के पहली बार मिले निशान, भारतीय सेना का दावा

भारतीय सेना ने दावा किया है कि पर्वतारोहण अभियान टीम को पहली बार रहस्मय ‘येती’ …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com