पुत्रदा एकादशी पर जरूर गाये भगवान श्री कृष्ण की आरती

आप सभी को बता दें कि आज पुत्रदा एकादशी है और आज के दिन  भगवान श्रीकृष्णजी का पूजन किया जाता है साथ ही उनकी आरती करने का विशेष महत्व है. ऐसे में आज हम लेकर आए हैं भगवान कृष्णा की आरती. आइए जानते हैं.

 

भगवान कृष्णा आरती –  

आरती कुंजबिहारी की श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की.

गले में बैजन्तीमाला बजावैं मुरलि मधुर बाला॥

श्रवण में कुंडल झलकाता नंद के आनंद नन्दलाला की. आरती….

गगन सम अंगकान्ति काली राधिका चमक रही आली.

लतन में ठाढ़े बनमाली भ्रमर-सी अलक कस्तूरी तिलक.

चंद्र-सी झलक ललित छबि श्यामा प्यारी की. आरती….
कनकमय मोर मुकुट बिलसैं देवता दरसन को तरसैं.

गगन से सुमन राशि बरसैं बजै मुरचंग मधुर मृदंग.

ग्वालिनी संग-अतुल रति गोपकुमारी की. आरती….

जहां से प्रगट भई गंगा कलुष कलिहारिणी गंगा.

स्मरण से होत मोहभंगा बसी शिव शीश जटा के बीच.

हरै अघ-कीच चरण छवि श्री बनवारी की. आरती….

चमकती उज्ज्वल तट रेनू बज रही बृंदावन बेनू.

चहुं दिशि गोपी ग्वालधेनु हंसत मृदुमन्द चांदनी चंद.

कटत भवफन्द टेर सुनु दीन भिखारी की. आरती….

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

क्या आप जानते है पौराणिक ग्रंथ भी सिखाते हैं दोस्ती का मतलब

दोस्ती का महत्व वही लोग बता सकते हैं जो दोस्ती की अहमियत जानते हैं. ऐसे …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com