पैक्सफेड से छीना 60 हेल्थ वेलनेस सेंटर का काम

 

रायबरेली : लगभग तीन करोड़ की लागत से जिले में बनने वाले 60 वेलनेस सेंटर का काम पैक्सफेड संस्था से छीन लिया गया है। डीएम ने इस मामले में पूर्व सीएमओ से स्पष्टीकरण भी मांगा है। उत्तर प्रदेश विधायन शीत गृह संघ लिमिटेड यानी पैक्सफेड को वर्ष 2013 में तत्कालीन सीडीओ ने काम देने पर रोक लगाई थी। मगर, नियम ताक पर रखकर पहले सांसद निधि से दीवानी परिसर में अधिवक्ता कक्ष बनाने के लिए 12 लाख रुपये निर्गत कर दिए गए।

 

 

 

 

जिसे डीएम नेहा शर्मा ने वापस सरकारी कोष में जमा करा दिया। साथ ही इस काम को ग्रामीण अभियंत्रण सेवा विभाग को सौंप दिया। इसी संस्था से जुड स्वास्थ्य विभाग की एक फाइल जब फिर से डीएम के सामने आई तो उन्होंने कड़ा रुख अख्तियार किया। पूर्व सीएमओ डॉ. डीके सिंह ने अपनी सेवानिवृत्ति यानी 30 सितंबर के पहले पैक्सफेड को तीनकरोड़ का काम देने की स्वीकृति कर दी। इस धनराशि से 60 हेल्ड वेलनेस सेंटर बनने हैं।

 

 

 

जब फाइल जिलाधिकारी के पास पहुंची तो उन्होंने उक्त संस्था को काम देने से इंकार कर दिया है। साथ ही पूर्व सीएमओ का स्पष्टीकरण आने पर कार्रवाई की बात कही है। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग में पैकफेड (उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण सहकारी संघ लिमिटेड) संस्था काम कर रही है मगर, उसे नजरअंदाज किया गया। मनमाने तरीके से ये काम पैक्सफेड को दिलाने का प्रयास किया गया।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

अयोध्या में आज अंतिम सुनवाई ,4 या 5 नवंबर को आ सकता है फैसला

मोल्डिंग ऑफ रिलीफ के तहत पेश होंगी दलीले : अयोध्‍या भूमि विवाद मामले में आज …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com