Breaking News

पैराफिट से टकराकर मौत के मुंह में समाए नेशनल लेवल शूटर सहित एक अन्य..

बल्लीवाला फ्लाईओवर पर बाइक के बिजली के पोल से टकराने से राष्ट्रीय स्तर केे शूटर के साथ ही आस्ट्रेलिया में पढ़ाई कर रहे युवक की मौत हो गई। दोनों युवक दोस्त थे।

 

 

देहरादून: बल्लीवाला फ्लाईओवर पर गत देर रात एक बाइक बिजली के पोल से जा टकराई। हादसे में बाइक सवार एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दूसरे ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इनमें से एक राष्ट्रीय स्तर का शूटर बताया जा रहा है। वहीं दूसरा आस्ट्रेलिया में पढ़ाई करता था।

जानकारी के मुताबिक गत रात करीब साढ़े दस बजे रजत पुत्र देवी सिंह मूल निवासी रोहतक, हाल निवासी हिल व्यू कॉलोनी इंद्रा नगर व अंशुमन पुत्र संजीव निवासी मुगलसराय उत्तर प्रदेश व हाल निवासी लेन नंबर दस चमन पुरी पटेलनगर बल्लूपुर से मंडी की तरफ आ रहे थे। बल्लीवाला फ्लाईओवर पर उनकी बाइक अनियंत्रित होकर बिजली के पोल से टकरा गई। हादसे में रजत और अंशुमन गंभीर रूप से घायल हो गए। फ्लाईओवर से गुजर रहे एक व्यक्ति ने हादसे की जानकारी पुलिस को दी। सूचना पर वसंत विहार चीता पुलिस मौके पर पहुंची। लेकिन, तब तक रजत की मौत हो चुकी थी, जबकि अंशुमन गंभीर रूप से घायल था। चीता पुलिस एक निजी वाहन से दोनों को श्री महंत इंदिरेश अस्पताल ले गई। जहां इलाज के दौरान अंशुमन की मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक दोनों की उम्र करीब 24 साल है और दोनों दोस्त थे। रजत आस्ट्रेलिया में पढ़ाई करता था और आजकल देहरादून अपने परिवार के पास आया हुआ था। वहीं, अंशुमन राष्ट्रीय स्तर का शूटिंग चैंपियन रह चुका है और वर्तमान में जसपाल राणा शूटिंग रेंज में प्रशिक्षण ले रहा था। उसके पिता गुजरात में ओएनजीसी में सिक्योरिटी ऑफिसर के पद पर तैनात हैं।

काल बन रहा फ्लाईओवर

बल्लीवाला फ्लाईओवर वाहन चालकों के लिए काल साबित हो रहा है। यहां आए दिन हादसे हो रहे हैं। कोई फ्लाईओवर के पैराफिट से टकराकर मौत के मुंह में समा रहा है तो कोई आपस में टकराकर दुर्घटना का शिकार हो रहा है। फ्लाईओवर की स्थिति को लेकर पहले भी कई बार सवाल उठ चुका है, लेकिन जिम्मेदार मौन बैठे हैं। दरअसल, जब से बल्लीवाला फ्लाईओवर का निर्माण शुरू हुआ था, तभी से इस पर सवाल उठने शुरू हो गए थे। जीएमएस रोड दोनों ओर से काफी चौड़ी है, जबकि फ्लाईओवर की चौड़ाई इसके हिसाब से काफी कम है। जब भी वाहन फ्लाईओवर में प्रवेश करते हैं तो इस दौरान वाहनों के आपस में टकराने की संभावना बढ़ जाती है। इसके अलावा कोई वाहन ओवरटेक की कोशिश करता है तो अंनियंतित्र होने या अन्य वाहनों व पैराफिट से टकराने की प्रबल संभावना रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*