Breaking News

बच्चों को शिक्षा के साथ संस्कार भी सिखाएं -नरेश अग्रवाल

लखनऊ।  बच्चों को शिक्षा के साथ संस्कारवान बनाना चाहिए। जब बच्चे संस्कारित होंगे तो वह अपने से बड़े-बुजुर्गों का सम्मान करेंगे। महाराजा अग्रसेन पब्लिक स्कूल बच्चों को शिक्षा देने के साथ ही अच्छे संस्कार भी दे रहा है। साथ ही कई तरह के रोचक, ज्ञानवर्धक आयोजन बच्चों के लिए कराए जाते हैं। यह स्कूल राजधानी में एक नया आयाम स्थापित करेगा। यह बात शनिवार को राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल ने कही।

जानकीपुरम सेक्टर आठ स्थित महाराजा अग्रसेन पब्लिक स्कूल में नवनिर्मित भवनों और तरणताल के उद्घाटन अवसर में मुख्य अतिथि सांसद नरेश अग्रवाल ने यह बात कही। उससे पूर्व मुख्य अतिथि नरेश अग्रवाल,समाजसेवी उमाशंकर हलवासिया ने स्कूल समिति के पदाधिकारियों की मौजूदगी में स्कूल परिसर में नवनिर्मित महाराजा अग्रसेन मंदिर का उद्घाटन व भगवान की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। समाजसेवी उमा शंकर हलवासिया के नाम से हलवासिया स्वीमिंग पूल तरणताल और परिसर में ही नवनिर्मित चार हजार वर्गफुट के वातानुकूलित सभागार का भी सांसद नरेश अग्रवाल ने उद्घाटन किया। यहां पर स्कूल समिति के मंत्री लोकराम अग्रवाल, कोषाध्यक्ष कमल किशोर अग्रवाल द्वारा सभी अतिथियों का माल्यार्पण किया गया। समिति के अध्यक्ष भारत भूषण गुप्ता, राजेंद्र कुमार अग्रवाल, डॉ. जगदीश अग्रवाल, देशराज अग्रवाल, सुमेर अग्रवाल, अनिल अग्रवाल मुन्ना, मनोज हवेलिया द्वारा अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। मंच पर अतिथियों का सम्मान व दीप प्रज्जवलन का कार्यक्रम किया गया।

कार्यक्रम का संचालन महाराजा अग्रसेन पब्लिक स्कूल के उपमंत्री अनूप गोयल ने किया। अध्यक्ष भारत भूषण गुप्ता ने नरेश अग्रवाल का स्वागत कर उनका परिचय दिया।

स्कूल प्रबंधन द्वारा अपनी ओर से सभी बच्चों का निशुल्क इंश्योरेंस कराया जाता है। उनके अभिभावकों द्वारा कोई शुल्क नहीं लिया जाता है। सांसद नरेश अग्रवाल व समाजसेवी उमाशंकर हलवासिया ने इस बात की काफी सराहना की। कार्यक्रम में विशेष रूप से नीरज बोरा, सुधीर हलवासिया, बनवारी लाल कंछल, राज कुमार जैन, पूर्णिमा सिंह, आशीष अग्रवाल, जगदीश प्रसाद अग्रवाल मौजूद रहे।

बच्चों ने बताया जल संरक्षण का महत्व

स्कूल के नन्हें मुन्ने बच्चों ने स्वागत गीत और सरस्वती वंदना की मनोरम प्रस्तुति दी। साथ ही देशभक्ति गीत पर नृत्य व गीत प्रस्तुत किया। बच्चों ने जल संरक्षण पर आधारित नाटक प्रस्तुत किया। जिसमें बच्चों ने जल संरक्षण का संदेश दिया और बताया कि व्यर्थ जल को न बहाया जाए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*