Breaking News

बिग बॉस के सिजन 10 में नहीं दिखे राज महाजन और राधे माँ

radhe-maa-lसबसे चर्चित रियलिटी शो बिग बॉस का पहला एपिसोड 16 अक्टूबर को प्रसारित हुआ और बहुत समय से चल रही नामों का शंकाओं पर विराम लगकर सभी फाइनल बिग बॉस के मेहमानों के नाम खुलकर आ गए. न्यूज़ में में राधे माँ, कबीर बेदी, शाइनी आहूजा, सना सईद, नक्षत्र बागवे, राहुल राज सिंह, अरमान जैन और राज महाजन के नामों के चर्चा बहुत ज़ोरों पर थी. लेकिन बिग बॉस ने चर्चाओं के विपरीत जाकर वीजे बानी, रोहन मेहरा, राहुल देव, गौरव चोपड़ा, लोपामुद्रा राउत, करण मेहरा और मोनालिसा को बिग बॉस के घर में सेलिब्रिटीज मेहमान के तौर पर उतारा. साथ ही साथ, आम आदमी केटेगरी में नितिभा कौल, मनोज पंजाबी, मनवीर गुर्जर, लोकेश कुमारी शर्मा, प्रियंका जग्गा, आकांक्षा शर्मा और ओम स्वामी बिग बॉस के घर में एंट्री करने में सफल हुए.

चर्चाओं बिलकुल विपरीत बिग बॉस के बदले समीकरणों के बारे में एक्टर, गायक और संगीतकार राज महाजन ने बताया, “बिग बॉस के बदले समीकरणों के बारे में मैं अभी कुछ नहीं कहना चाहूँगा. बिग बॉस की अपनी पालिसी है. जिन लोगों के साथ संभावित प्रतियोगिओं के तौर पर मेरे नाम की चर्चा चल रही थी, उन सब में से कुछ के साथ मेरी लगातार बात चल रही थी. जब से हम लोगों के नाम ख़बरों में आये थे, हम लोग लगातार संपर्क बनाकर रखे हुए थे.”

raaj-mahajanसंगीतकार और एक्टर राज ने कहा, “इस बार के बिग बॉस के सेलिब्रिटीज का लेवल मुझे पसंद नहीं आया. मैंने पहले के बिग बॉस के सीजन देखें हैं और अच्छे प्रोफाइल के लोगों को मैंने बिग बॉस में देखा है. पहले की तुलना में इस बार के बिग बॉस के सलेब्स का लेवल गिर गया है. कुछ तो ऐसे हैं जिन्हें कोई जानता भी नहीं है. भगवान् का शुक्र है कि मैं बिग बॉस में नहीं हूँ. अपने बस का उतना नहीं है… “

अपने बारे में राज महाजन ने बताया, “मैंने कभी नहीं कहा कि मैं बिग बॉस जा रहा हूँ. मीडिया ने ख़बरों में मेरा नाम बिग बॉस के संभावित प्रतिभागी के तौर पर उछाला किया था. बिग बॉस के घर में कम्पटीशन में आगे बढ़ने के लिए अब प्रतियोगी किसी भी स्तर तक जा सकते हैं. जो शायद मेरे बस का नहीं है. क्योंकि गाली देना, राजनीती करना, झूठ बोलना, मक्कारी करना, लड़ाई करना और कराना, ये सब शायद मेरे जैसे कलाकारों के बस की बात नहीं थी. बिग बॉस का घर मेरे लिए लिए उचित प्लेटफार्म नहीं है.”

आपको पता ही होगा कि अभी हाल ही में संगीतकार और एक्टर राज महाजन पर 498A, 323, 504, 506, 377, दहेज़ प्रतिषेध अधिनियम 1961 3 और 4 धाराओं के तहत दहेज़, घरेलु हिंसा जैसे झूठे इल्जामों में फंसाकर मुकदमा फाइल किया गया है. राज कहते हैं, “मुझे झूठे मुकदमों में फंसाया जा रहा है जिसमे पुलिस डिपार्टमेंट के कुछ लोगो भी साथ दे रहे हैं. मैं कुछ स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ मिलकर महिलाओं के लिए कानूनों के दुरूपयोग के खिलाफ राष्ट्रीय स्तर पर आन्दोलन खड़ा करूँगा. मुझे काफी लोगों से लगातार मेसेज आ रहे हैं जो इस आन्दोलन मेरे साथ लड़ना चाहते हैं. मैं मोदी सरकार से आग्रह करना चाहता हूँ कि भारतीय कानून व्यवस्था में इस तरह के कानूनों का खात्मा होना चाहिए जिनका  दुरूपयोग महिलायें या ससुराल वाले शरीफ और नादान लोगों को फंसाने के लिए करते हैं. नहीं तो हम जैसे शरीफ लोग समाज में बेईमान लोगों के हाथों बेइज्जत होते रहेंगे.  माननीय मोदी जी ! हमें ऐसे कानूनों से बचाइये.”

ऐसा लगता है है राज की पत्नी द्वारा दहेज़, घरेलु हिंसा और 377  का आरोप जान-बूझकर इसलिए लगाया है ताकि राज महाजन कानूनी झमेलों में फंस जाए और बिग बॉस में ना जा पाए. और लगता है राज की पत्नी का यह मकसद पूरा हो गया है.

बहरहाल, राज महाजन अपने आगामी म्युज़िक एल्बम ‘मजबूरियाँ’ (गायक, डॉ. हरिओम, IAS) और ‘लागे कैसे तोरे बिन जिया रे पीया’ (गायक सचिन देव मिका और मनोज बक्शी) के रिलीज़ में व्यस्त हैं. ‘लागे कैसे तोरे बिन जिया रे पीया’ में राज महाजन ने अभिनय भी किया है और नए लुक में नज़र आ रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*