Breaking News

महिला टीचर को बॉथरूम में बंद कर छात्र ने रखी ऐसी शर्त कि चारो और हो रही थू-थू..

महिला टीचर को स्कूल के बाथरूम में बंद कर उनके साथ शारीरिक संबंध बनाने की बात कहने वाला छात्र पकड़ से दूर है। स्कूल प्रशासन आरोपी छात्र की पहचान करने में जुटा हुआ है।

 

नई दिल्ली। पूर्वी दिल्ली के विवेक विहार इलाके में स्थित एक सीनियर सेकेंडरी स्कूल में छात्र ने शिक्षिका को शौचालय में बंद कर दिया। इसके बाद उस छात्र ने शिक्षिका से जबरन शारीरिक संबंध बनाने की जिद करने लगा। छात्र अपने मिशन में कामयाब नहीं हो सका, महिला किसी तरह से अपनी इज्जत बचाकर बाथरूम से बाहर निकल आई। महिला किसी तरह बाहर निकली और पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी छात्र की तलाश शुरू कर दी है। लेकिन तीसरे दिन भी आरोपी की पहचान नहीं हो सकी है। सभी छात्रों की शिनाख्त कराई जा रही है। उधर, इस मामले को लेकर शिक्षक संगठनों में काफी रोष फैल गया है। उन्होंने इस तरह की घटनाओं के लिए राज्य की सरकार जिम्मेदार ठहराया है। उनका कहना है कि मंत्री और अधिकारी बच्चों के सामने शिक्षकों को अपमानित करते हैं, इस वजह से उनके मन में अब सम्मान बचा ही नहीं है। 44 वर्षीय शिक्षिका विवेक विहार के स्कूल में सुबह की शिफ्ट में तैनात हैं। गत मंगलवार को सुबह की शिफ्ट खत्म होने के बाद छात्राएं स्कूल से चली गई थीं छात्राओं के निकलने के 15 मिनट बाद शिक्षिकाएं निकलती हैं। इसी दौरान पीड़ित शिक्षिका शौचालय चली गई थी। तभी छात्र स्कूल में दाखिल हो गए। एक छात्र ने शौचालय को बाहर से बंद कर दिया। शिक्षिका ने रोशनदान से झांककर देखा तो एक छात्र था। उन्होंने उसे खोलने के लिए कहा तो आरोपी संबंध बनाने के लिए कहने लगा। इसके बाद आरोपी फरार हो गए। बाद में एक शिक्षक ने शौचालय का दरवाजा खोला। महिला ने इसकी शिकायत स्कूल प्रशासन से की। स्कूल प्रशासन इस मामले में आरोपी का पता लगाने में जुट गया है। दिल्ली अध्यापक परिषद के संगठन मंत्री राजेंद्र गोयल का कहना है कि आप सरकार ने स्कूलों में अभिभावकों स्कूल मैनेजमेंट कमेटी (एसएमसी) का गठन किया है। इस कमेटी को शिक्षकों का फोटो लेने और वीडियो बनाने को भी कहा गया है। एसएमसी सदस्यों ने इस काम के लिए बच्चों को मोबाइल दे दिया। अब वे शिक्षकों को डराते-धमकाते हैं। यही नहीं मंत्रियों के स्कूल में दौरे पर शिक्षकों को छात्रों के सामने अपमानित किया जाता है। गवर्नमेंट स्कूल टीचर एसोसिएशन के महासचिव अजय वीर यादव ने भी घटना की निंदा कर कहा कि इससे पहले नांगलोई में एक शिक्षक की हत्या कर दी गई थी, लेकिन आज तक शिक्षकों की सुरक्षा के लिए कोई उपाय नहीं किए गए। दोनों संगठनों ने कहा है कि इस मामले में सरकार को पत्र लिखकर नाराजगी जताई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*