Breaking News

41लाख नकदी और भारी मात्रा में सोना के साथ 162 करोड़ का कलाधन जब्त

 

आयकर विभाग के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार रमेश जरकीहोली सौभाग्य लक्ष्मी शुगर लिमिटेड नामक कंपनी के प्रमुख प्रमोटर और निदेशक हैं।

 

नई दिल्ली। कांग्रेस शासित कर्नाटक के लघु उद्योग मंत्री रमेश जरकीहोली और प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मी हेब्बलकर के खिलाफ आयकर विभाग का शिकंजा कस गया है। हाल ही में आयकर विभाग द्वारा मारे छापे में विभाग ने इन कंपनियों से 162 करोड़ रुपये के काले धन का पर्दाफाश किया है. साथ ही आयकर विभाग नें 41 लाख रुपये की नकदी और 12 किलोग्राम सोना भी जब्त किया है। दोनों नेताओं पर चीनी से जुड़ी कोऑपरेटिव सोसाइटियों के मार्फत बड़े पैमाने पर काले धन की हेराफेरी का आरोप है। आयकर विभाग के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार रमेश जरकीहोली सौभाग्य लक्ष्मी शुगर लिमिटेड नामक कंपनी के प्रमुख प्रमोटर और निदेशक हैं। उनके भाई की भी इसमें हिस्सेदारी है। आयकर छापे में सौभाग्य लक्ष्मी शुगर में 115 करोड़ रुपये काला धन उजागर हुआ है। कंपनी में कई बेनामी निवेशकों की मार्फत करोड़ों रुपये निवेश किए जाने के भी सुबूत मिले हैं। छापे के दौरान कंपनी के ठिकानों से 21 लाख रुपये नकद 12 किलोग्राम सोना भी बरामद किया गया है। आयकर विभाग के अनुसार रमेश जरकीहोली के परिवार के सदस्यों और अन्य करीबियों के खातों में करोड़ों रुपये जमा मिले हैं, जिनका वे संतोषजनक जवाब नहीं दे पा रहे हैं।

रमेश जरकीहोली के दो अन्य भाई भी कर्नाटक में विधायक हैं। रमेश जरकीहोली की तरह ही कर्नाटक प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष लक्ष्मी हेब्बलकर के भाई चन्नाराज बी हट्टीहोली के खाते में लगभग 11 करोड़ रुपये और मां गिरिजा हट्टीहोली के खाते में 25.5 करोड़ रुपये जमा किए जाने के सबूत मिले हैं। इसके साथ ही हाईटेक इंजीनियरिंग कॉरपोरेशन नाम की कंपनी के खाते में भी 10.5 करोड़ रुपए जमा कराए गए थे। तीनों में कोई भी इन पैसों का स्त्रोत नहीं बता पा रहे हैं। लक्ष्मी हेब्बलकर से जुड़े ठिकानों पर मारे गए छापे में 20 लाख रुपये नकद बरामद किए गए हैं। आयकर विभाग का मानना है कि ये सभी पैसे लक्ष्मी हेब्बलकर के हैं। एक वरिष्ठ ने कहा कि इस मामले में जल्द ही रमेश जरकीहोली और लक्ष्मी हेब्बलकर को पूछताछ के लिए समन भेजेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*