Breaking News
Teacher in a classroom of a Rural Indian Village School

मास्टरजी का दिखा जलवा 15 अगस्त के बाद सीधे 26 जनवरी को पहुंचे स्कूल

जयपुर-  राजस्थान के दौसा जिले के देवरी गांव के सरकारी स्कूल का एक शिक्षक 15 अगस्त का समारोह कराने के बाद गायब हो गया और उसके बाद सीधा 26 जनवरी को स्कूल आया। इस दौरान स्कूल बंद रहा। शिक्षक की लापरवाही से नाराज गांव वालों ने इसे बंधक बना लिया। बाद में अधिकारियों ने पहुंच कर इस शिक्षक को मुक्त कराया।

गांव वालों ने बताया कि शिक्षक प्रेमप्रकाश अंतिम बार 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाने आए थे लेकिन, उसके बाद उन्होंने छह माह तक विद्यालय में अपनी शक्ल तक नहीं दिखाई। इसके बाद प्रेमप्रकाश 26 जनवरी को विद्यालय पहुंचे।

ग्रामीणों का कहना है कि यह गांव का एकमात्र प्राथमिक विद्यालय है। यहां पहले दो शिक्षक लगे हुए थे लेकिन, एक शिक्षक का प्रमोशन होने के बाद वह यहां से चला गया जिसके बाद विद्यालय में एक ही शिक्षक बचा। यह शिक्षक जुलाई माह से अगस्त तक तो विद्यालय में रहा जब विद्यालय में बच्चों का नामांकन 75 था लेकिन, अब इस विद्यालय में दो ही विद्यार्थी बचे हैं।

इस विद्यालय में स्वतंत्रता दिवस मनवाने के बाद यह शिक्षक फिर इस विद्यालय में नहीं देखा गया। इसके बाद यह फिर से 26 जनवरी को आया। जिससे इतने दिन नहीं आने का कारण पूछा गया तो यह स्पष्ट जबाब नहीं दे सका और ग्रामीणों को ही धमकाने लगा। इसके बाद गुस्साए ग्रामीणों ने शिक्षक को बंधक बना लिया जिसके बाद मौके पर पहुंची लवाण थाना पुलिस और बीओ की समझाइश के बाद छोड़ा गया।

ग्रामीणों ने बीओ से मांग की है कि शिक्षक विद्यालय बजट का पूरा हिसाब दे और साथ ही विद्यालय में दूसरा शिक्षक लगाया जाए। विभाग मामले की जांच करा रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*