राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने किया शस्त्र पूजन, निकाला पथसंचलन

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ विजया दशमी के पावन पर्व पर प्रदेश सहित देशभर में स्थापना दिवस मना रही है। इसी कड़ी में राजधानी रायपुर में भी स्वयं सेवक संघ ने स्थापना दिवस मनाया। संघ कार्यकर्ताओं ने बूढ़ापारा स्थित स्पोर्टस मैदान पर शस्त्रों की पूजा-पाठ कर हवन-पूजन किया। साथ ही संघ के लोगों ने पूजा के बाद शहरभर में रैली निकाली। इस अवसर पर संघ की ओर से मुख्य वक्ता के रूप में बौद्धिक गुरु स्वान्तरंजन मौजूद रहे, जिन्होंने आरएसएस के लोगों को संघ की कर्तव्यनिष्ठा के बारे में बताया साथ ही आरएसएस की विचारधाराओं पर चलने की शपथ दिलाई। कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के स्वयं सेवकों ने अपना गीत गाया। इसके बाद शस्त्रों की पूजा अर्चना भी की। इस दौरान बुराइयों को खत्म करने का प्रण लिया गया।

सहप्रान्त संघचालक डॉ. पूर्णेन्दु सक्सेना ने बताया कि संघ का विजयादशमी का उत्सव के साथ ही संघ का स्थापना दिवस भी है। आज का दिन हिंदू समाज के लिए बहुत बड़ा और पावन दिन है। नौ दिन की शक्ति पूजा के बाद दशहरा के दिन शस्त्र पूजन किया जाता है।

संघ की हमेशा से ही धारणा रही है कि हिंदू समाज एकत्र होकर सूत्र में बंध जाएगा, तो इस देश पर कोई प्रतिघात नहीं कर पाएगा। इसी प्रयास को लेकर हमेशा से कार्यरत है। इसी संकल्प को लेकर हर बार की तरह इस बार भी दोहराया गया और पथ संचलन किया गया।

इन इलाकों में पथ संचलन

आरएसएस द्वारा स्थापना दिवस पर सुबह सात बजे शस्त्र पूजा के बाद पथ संचलना किया गया। सुबह 8ः15 बजे बुढ़ापारा स्पोर्ट्स मैदान के पीछे से निकली यात्रा कंकाली तालाब होते हुए आजाद चौक, आमापारा, मंगलबाजार, लाखेनगर, पुरानी बस्ती होते हुए बुढ़ापारा में समापन हुआ। इस दौरान तकरीबन 1200 से ज्यादा स्वयं सेवक संघ उपस्थित रहे। पथ संचलन के दौरान आम लोगों ने जगह-जगह स्वयं सेवकों का स्वागत किया।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

अयोध्या मामला : ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड अपने रुख पर कायम, समझौते से किया इनकार

मुस्लिम बुद्धिजीवियों के रुख से अलग जाकर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने अयोध्या …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com