व्यवसायी की गोली मारकर हत्या, कमरे में दिखा एेसा नजारा, पुलिस हैरान

 अपराधियों ने सदर थाना क्षेत्र की कच्ची-पक्की इंदिरा कॉलोनी में गुरुवार की रात घर में घुसकर फैक्ट्री मालिक जितेंद्र दास को गोलियों से भून दिया। मौके पर ही उनकी मौत हो गई। बिछावन पर वे खून से लथपथ गिरे थे। जितेंद्र के पास कच्ची-पक्की इलाके में अकूत पैतृक संपत्ति है। उसी इलाके में उनकी कूट फैक्ट्री भी है। घटना की जानकारी मिलने के बाद लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।

सूचना पर एसएसपी मनोज कुमार, सिटी एसपी नीरज कुमार सिंह समेत अन्य पुलिस पदाधिकारी मौके पर पहुंचे और छानबीन की। एफएसएल ने भी जांच कर नमूने एकत्र किए। घर में एक खोखा गिरा मिला। एक गोली सिर में आर-पार हो गई है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से सब स्पष्ट होगा कि कितनी गोलियां लगी हैं।

बताया गया कि जितेंद्र रात करीब साढ़े नौ बजे घर में आराम कर रहे थे। इसी क्रम में बदमाशों ने कमरे में घुसकर उन्हें गोली मार दी। पुलिस की प्रारंभिक जांच में पता चला कि जितेंद्र के साथ कमरे में एक और व्यक्ति था। दोनों ने साथ में रात का भोजन भी किया। कमरे में पड़ी थाली में मांस के टुकड़े मिले हैं।

आशंका जताई जा रही कि जितेंद्र के साथ जो व्यक्ति कमरे में था, उसने खाने के साथ शराब का भी सेवन किया था। जितेंद्र शाम ढलने के बाद घर पर कई लोगों को बुलाकर साथ में खाना खाते और शराब पीते थे। दूसरी महिलाओं का भी वहां आना-जाना रहता था। इस बात की जानकारी मोहल्ले के भी कुछ लोगों ने पुलिस को दी।

जांच में यह भी पता चला कि पत्नी रूमा टंडन से जितेंद्र का विवाद चल रहा था। कोर्ट में पारिवारिक विवाद का भी  मामला चल रहा है। जितेंद्र का काफी दिनों से माड़ीपुर इलाके की एक युवती के साथ संबंध था। उक्त युवती का भी उनके यहां आना-जाना रहता था। पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है। जांच के बाद पूरी स्थिति स्पष्ट होगी।

कहा-एसएसपी ने

– पति-पत्नी में पारिवारिक संबंध खराब थे। गलत संगत में जितेंद्र रहता था। सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। जल्द ही पूरा मामला सामने आ जाएगा।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

चलती ट्रेन में मां की गोद से बच्‍चा छीनकर बाहर फेंका, आरोपित ने बताई चौंकाने वाली बात

 मालदा से दिल्ली जा रही फरक्का एक्सप्रेस में यात्री की सनक से एक परिवार पर …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com