सरहद पर खड़े जवानो की सुरक्षा लिए पहली बार देश में बनायीं जाएँगी 40 हजार बुलेटप्रूफ जैकेट्स, आतंकियों की AK-47 रहेगी बेअसर

सरहद पर खड़े हमारे और हिन्दुस्तान की सुरक्षा के लिए सेना के जवान के लिए कश्मीर घाटी में पहली बार 40 हजार स्वदेशी बुलेटप्रूफ जैकेटों की आपूर्ति की गई है | आतंकवाद विरोधी अएसएमपीपी प्राइवेट लिमिटेड के मेजर-जनरल अनिल ओबेरॉय (सेवानिवृत्त) ने कहा, “हमें उम्मीद है कि हम सेना के लिए बुलेटप्रूफ जैकेट के ऑर्डर को अच्छी तरह से समय से पहले मुहैया करा देंगे”।उन्होंने आगे बताया कि हमें पहले साल में 36,000 जैकेटों की आपूर्ति करनी थी, लेकिन हम समय से पहले हैं और हमने भारतीय सेना को 40,000 जैकेटों की आपूर्ति की है।

 

 

सरकार ने यह ऑर्डर पूरा करने के लिए कंपनी को 2021 तक की तारीख दी है, लेकिन 2020 के अंत तक सारी जैकेट्स बन कर तैयार हो जाएंगी। जिससे हमारी भारतीय सेना और भी मज़बूत हो जाएगी | बता दें कि पिछले साल, रक्षा मंत्रालय ने स्वदेशी निर्माता एसएमपीपी लिमिटेड को 1.8 लाख से अधिक बुलेटप्रूफ जैकेट प्रदान करने का ठेका दिया था।
बताया गया कि जैकेटों को कानपुर में केंद्रीय ऑर्डनेन्स डिपो को आपूर्ति की जा रही है, जहां से उन्हें जम्मू और कश्मीर और अन्य हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में भेजा जाएगा|

 

 

जैकेट्स की ख़ास बात, AK-47 भी बेअसर :ओबेरॉय ने दावा किया कि बुलेटप्रूफ जैकेट एके -47 राइफल के हमले का भी सामना कर सकती हैं। उन्होंने कहा, ‘देश में बनी यह बुलेटप्रूफ जैकेट्स हार्ड स्टील से बनी गोलियां झेल सकती है। एके-47 और कई अन्य हथियार इस पर बेअसर होंगे। हमारी जैकेट इसके प्रभाव को अवशोषित कर सकती है’|

 

ओबेरॉय ने कहा कि हमने बुलेटप्रूफ जैकेट के साथ ऐसे हेलमेट भी बनाए हैं जो एके -47 हार्ड स्टील कोर गोला बारूद के खिलाफ सैनिकों की रक्षा कर सकते हैं। इसमें फेशियल विसर भी होगा। हम अपने सैनिक के सिर से पैर तक का ख्याल रखेंगे।’ ओबेरॉय ने बताया कि कंपनी के हेलमेट पहले से ही भारत में विभिन्न सशस्त्र बलों अर्थात् केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा उपयोग किया जा रहे हैं।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

हथिनी की ‘हत्‍या’ पर मुख्‍यमंत्री विजयन बोले- लोगों की चिंताएं बेकार नहीं जाएंगी

नई दिल्‍ली। केरल में गर्भवती हथिनी की दर्दनाक मौत को लेकर राज्‍य सरकार ने दोषियों …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com