सीएम नीतीश ने किया झंडोत्‍तोलन, बोले- Triple C से कोई समझौता नहीं

73वें स्‍वतंत्रता दिवस के रंग में पूरा बिहार रंग गया है। पटना से लेकर तमाम जिलों में राष्‍ट्रीय पर्व की खुशियों में लोग डूब गए हैं। इस मौके पर सीएम नीतीश कुमार ने राजधानी के एक अणे मार्ग स्थित मुख्‍यमंत्री आवास में झंडोत्‍तोलन किया और तिरंगे को सलामी दी। इस मौके पर काफी संख्‍या में स्कूली छात्राएं मौजूद रहीं। वहीं मुख्‍य समारोह गांधी मैदान में हो रहा है। गांधी मैदान में भी सीएम नीतीश कुमार ने झंडोत्‍तोलन किया। उन्‍होंने कहा कि ट्रिपल सी (Triple C) यानी क्राइम (Crime), करप्‍शन (Corruption) और कम्‍यू‍नलिज्‍म (Communalism) से कोई समझौता नहीं होगा। बिहार का तेजी से विकास हो रहा है। उन्‍होंने जलवायु परिवर्तन पर चिंता जताई तथा जल-जीवन-हरियाली अभियान पर जोर दिया।

सीएम ने किया परेड
पटना के गांधी मैदान में झंडोत्‍तोलन के पहले सीएम नीतीश ने परेड का निरीक्षण किया। मौके पर आसमान में उड़ा रंग-बिरंगे गुब्बारे उड़ाए गए। परेड की कमान 2016 बैच के आईपीएस व पटना सदर एएसपी किरण कुमार गोरख जाधव के जिम्मे है। इसके बाद उन्‍हाेंने राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराया और सलामी दी।

तीन साल पहले शुरू हुई थी शराबबंदी
सीएम नीतीश कुमार ने शराबबंदी को लेकर कहा कि जब हमने तीन साल पहले इसकी शुरुआत की थी तो कुछ लोगों ने इसका विरोध किया था। आज आप शराबबंदी का विरोध करने वाले लोगों की और उनके परिवारों की स्थिति देख सकते हैं। जिस परिवार ने शराब छोड़ दी है, उनकी स्थिति भी देख सकते हैं। शराब छोड़ने वाले परिवारों की जिंदगी में काफी सुधार आया है। हमने महिलाओं की मांग पर शराबबंदी का फैसला लिया था और हमें खुशी है कि यह काफी सफल रही है।

सात निश्‍चय पर भी पूरा ध्‍यान
उन्‍होंने कहा कि सात निश्‍चय पर भी कहा कि इस पर हमारा पूरा ध्‍यान है। हर गांव को पक्की सड़क से जोड़ने का लक्ष्य है। सरकार हर घर नल का जल पहुंचाएगी। हमने लक्ष्य रखा है कि सूबे के किसी भी कोने से लोग पांच घंटे के अंदर पटना पहुंच जाएं। सड़कों और गलियों के निर्माण के साथ उनका मेंटेनेंस भी हमारी जिम्मेदारी है। निर्माण के साथ निरंतर मेंटेनेंस होता रहेगा। इतना ही नहीं, हर घर बिजली पहुंचाई जा रही है। 2019 के अंत तक पूरे बिहार में जर्जर बिजली के तारों को बदल दिया जाएगा। 2018 में ही हमने सूबे के हर परिवार को बिजली का कनेक्शन दे दिया। उन्‍होंने कहा कि शराबबंदी की तरह ही समाज को दहेजमुक्‍त बनाएंगे।

जल जीवन हरियाली अभियान शुरू
सीएम ने जलवायु परिवर्तन को लेकर भी कई महत्‍वपूर्ण बातें बताईं तथा पौधारोपण व वृक्ष संरक्षण पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार जल जीवन हरियाली अभियान शुरू कर रही है। अगर जल और हरियाली है, तभी जीवन संभव है। उन्‍होंने कहा कि जब बिहार बंटा था, तब हमलोगों के हिस्‍से में नौ फीसद हरियाली थी। खुशी की बात है कि अब यह बढ़कर 15 फीसद हो गई है। उन्‍होंने कहा कि इसे 17 फीसद तक करने का लक्ष्य है।

गांधी मैदान में थी कड़ी सुरक्षा
उधर, स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान मैदान एवं इसके बाहर सुरक्षा की सख्त व्यवस्था की गई थी। आसपास की सभी ऊंची इमारतों पर सुरक्षाकर्मी तैनात थे। दूरबीन से चारों ओर नजर रखे हुए थे। मैदान को पूर्णरूप से सील कर दिया गया था। बाहर एवं अंदर पेट्रोलिंग की जा रही थी। दर्शकों के बैठने की इस बार विशेष व्यवस्था की गयी थी। बांस की जाली पर कुशन रखकर इसे गद्देदार बनाया गया था। गांधी मैदान के गेट एवं अंदर इस बार दंडाधिकारी नहीं 63 समन्वयक तैनात किए गए थे। परेड टुकड़ी के पीछे स्ट्रेचर के साथ वॉलेंटियर व डॉक्टर भी तैनात थे। गांधी मैदान के चारों ओर कहीं भी कोई वाहन पार्क नहीं करने दिया गया था।

सीसीटीवी से की गई निगरानी
गांधी मैदान की निगरानी सीसीटीवी कैमरे से भी की गयी। गेट पर वीडियोग्राफी की जा रही थी। सभी गेटों पर दंडाधिकारी के बदले समन्वयक और पुलिस अधिकारी बड़ी संख्या में महिला और पुरुष जवानों के साथ तैनात थे। इसके पहले स्‍वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्‍या पर सीएम नीतीश कुमार ने देश की आजादी के लिए कुर्बानी देने वाले वीर सपूतों का स्मरण किया और कहा कि उनकी शहादत ने ही हम सबको आजादी का तोहफा दिया है।

स्‍वतंत्रता सेनानियों को किया गया याद
सीएम नीतीश ने सभी स्वतंत्रता सेनानियों को भी याद किया और देश-प्रदेश वासियों से भाईचारा, मेलजोल, सद्भाव एवं सहिष्णुता का वातावरण बनाए रखने का आग्रह किया। उन्होंने देश की आजादी को बरकरार रखने के लिए इसे जरूरी बताया और लोगों से देश की तरक्की के लिए संकल्प लेने की अपील की। मुख्यमंत्री ने सबको बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज के दिन हमें अपनी एकता और अखंडता को बनाए रखने तथा देश की प्रगति, समृद्धि एवं विकास की नई ऊंचाई पर पहुंचाने का संकल्प लेना चाहिए। देश का नाम दुनिया में रोशन करने के लिए यह जरूरी है।

गांधी मैदान में तीन गेटों से मिला आमलोगों को प्रवेश
दूसरी ओर गांधी मैदान में आयोजित झंडोत्तोलन समारोह के लिए तीन गेटों से आम लोगों को प्रवेश दिया गया। एसके मेमोरियल पावर सब स्टेशन के सामने गेट संख्या छह, उद्योग भवन के सामने गेट संख्या सात और सुभाष पार्क के सामने गेट संख्या आठ से प्रवेश मिला। तीनों गेटों पर सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गई थी।

एक नंबर गेट से सीएम व डिप्‍टी सीएम ने किया प्रवेश
वहीं, गांधी मैदान के गेट संख्या एक से केवल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने प्रवेश किया। हालांकि झांकियों को भी प्रवेश गेट संख्या एक से दिया गया। गेट संख्या नौ से मीडिया को प्रवेश दिया गया, जबकि गेट संख्या 10 न्यायाधीश, मंत्री, एमएलए, एमएलसी, स्वतंत्रता सेनानी सहित वीआइपी के लिए था। बैगनी रंग और हरे रंग के कार्ड वाले अतिथि का प्रवेश भी गेट नंबर 10 से ही दिया गया। इसी तरह, गेट संख्या 11 से उप सचिव स्तर, डीएसपी स्तर के अधिकारियों को प्रवेश दिया गया। गेट संख्‍या पांच सिर्फ परेड में भाग लेने वालों के लिए रिजर्व था, जबकि गेट संख्या चार स्कूली बच्चों के लिए रखा गया था।

20 टुकडि़यां परेड में हुईं शामिल
गांधी मैदान में मुख्य परेड स्थल पर बैरिकेडिंग की गई थी। परेड में सुरक्षा बलों की 20 टुकडिय़ाें ने शिरकत की। सीआरपीएफ, सीआइएसएफ, आइटीबीपी, एसएसबी (पुरुष), एसटीएफ, बीएमपी वन, बीएमपी महिला बटालियन, जिला शस्त्र बल (पुरुष), जिला शस्त्र बल (महिला), झारखंड आम्र्स पुलिस, गृह रक्षा वाहिनी ग्रामीण, गृह रक्षा वाहिनी शहरी, एनसीसी आर्मी पुरुष, एनसीसी आर्मी महिला, एनसीसी एयरफोर्स, एनसीसी नेवी, स्काउट एंड गाइड ब्वॉयज, स्काउट एंड गाइड गल्र्स, श्वान दस्ता, फायर ब्रिगेड इसमें शामिल हुए।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

चलती ट्रेन में मां की गोद से बच्‍चा छीनकर बाहर फेंका, आरोपित ने बताई चौंकाने वाली बात

 मालदा से दिल्ली जा रही फरक्का एक्सप्रेस में यात्री की सनक से एक परिवार पर …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com