सुप्रीम कोर्ट ने गो-हत्या को नही माना जुर्म, याचिका को ख़ारिज किया

नई दिल्ली-  सुप्रीम कोर्ट ने गो-हत्या पूरी तरह रोकने के लिए सभी राज्यों को कानून बनाने के लिए निर्देश देने से इनकार कर दिया है । एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कोर्ट ने पहले ही ये आदेश दे रखा है कि एक राज्य से दूसरे राज्य में जानवरों के अवैध परिवहन को रोकने के लिए उपाय किए जाएं । दरअसल सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर कर सुप्रीम कोर्ट से आग्रह किया गया है कि गोहत्या को पूर्णत: रोकने के लिए सभी राज्यों को कानून बनाने के लिए दिशानिर्देश जारी किए जाएं । याचिका में कहा गया है कि जानवरों को उन राज्यों में ले जाया जाता है जहां उनकी हत्या प्रतिबंधित नहीं है । पर ये बात  सुप्रीम कोर्ट को समझ में नही आ रहा । सुप्रीम कोर्ट के नजरिये से गो-हत्या कोई जुर्म नही लोगो के आवाज उठाने के बावजूद सुप्रीम कोर्ट इस मामले को ख़ारिज कर दिया । इससे यह तो साबित हो गया की कानून की नजरिये से गो-हत्या कोए जुर्म नही, और एक बार और साबित हो गया की कानून अँधा और बेहरा है । इन्ही वजहों से लोगो का कानून पर से विशवास उठ गया है ।

gohatya1

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

उत्तर प्रदेश

उप्र : सड़क हादसे में 2 छात्र नेताओं सहित 4 की हुई मौत

लखनऊ | उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में एक तेज रफ्तार कार सड़क किनारे के …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com