Breaking News

पेपर लीक मामले में 10वीं के छात्रों को राहत ,नहीं होंगे दुबरा पेपर …

दसवी और बारहवी पेपर लीक मामले को लेकर सीबीएसई ने 10वीं की गणित की परीक्षा को दोबारा न कराने का फैसला लिया है.पेपर लीक के मामले सामने आने के बाद बोर्ड की ओर से कहा गया था कि हम इस परीक्षा के दोबारा आयोजन पर विचार करेंगे। एक रिपोर्ट के मुताबित  इससे पहले बोर्ड ने दिल्ली-एनसीआर और हरियाणा में री-टेस्ट की बात कही थी, ऐसे में यह खबर यहां के छात्रों को राहत पहुंचाने वाली है। बोर्ड का कहना था कि लीक हुआ पेपर इन इलाकों तक ही सर्कुलेट हुआ था, ऐसे में यहां दोबारा आयोजित कराया जा सकता.

 

ये भी पढ़े -अब की जा सकेगी पूरी ट्रेन या पूरे कोच की बुकिंग ऑनलाइन, रेलवे ने किया ऐलान

 

सूत्रों  के मुताबिक परीक्षा की कॉपियां देखने के बाद ये  फैसला लिया गया है। बोर्ड का कहना है कि पेपर लीक के प्रकरण का कॉपियों पर असर नहीं दिख रहा है, ऐसे में इसे दोबारा कराना ठीक नहीं होगा। इस संबंध में जल्दी ही बोर्ड की ओर से आधिकारिक बयान जारी किया जा सकता है। 10वीं की गणित की परीक्षा 28 मार्च को हुई थी।

 

बोर्ड के सूत्र ने बताया की ,’यदि किसी छात्र का आंतरिक असेसमेंट कमजोर रहता है और वह मेन पेपर में अप्रत्याशित रूप से अच्छा करता है तो हम रिजल्ट का पूरी सावधानी से परीक्षण करेंगे।इकनॉमिक्स के पेपर लीक मामले में अब तक तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। इनमें से दो आरोपी निजी स्कूलों के टीचर हैं, जबकि एक ट्यूटर है। इकनॉमिक्स के पेपर लीक मामले में अब तक तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।

 

रिपोर्ट के अनुसार  बोर्ड ने यह पता लगाने के लिए कॉपियों की जांच कराई है कि लीक के चलते छात्रों के दिए जवाब में कुछ अंतर है या नहीं। इसके अलावा मानव संसाधन मंत्रालय और सीबीएसई का मानना है कि 10वीं के एग्जाम छात्रों के सीनियर सेकंडरी में जाने भर के लिए होते हैं, जबकि 12वीं के बाद यूनिवर्सिटी की पढ़ाई शुरू होती है। ऐसे में 10वीं और 12वीं को लेकर अलग-अलग रुख अपनाने का फैसला लिया जा सकता है। ‘ हालांकि 12वीं का इकनॉमिक्स का पेपर 25 अप्रैल को दोबारा आयोजित कराया जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*