Breaking News

प्रदेश की उन्नती के लिए 28 हज़ार करोड़ के एमओयू हुए साइन, खुलेंगी 33 लाख रोज़गार की राहें

यूपी इंवेस्टर्स समिट के सफल आयोजन के बाद उम्मीद की जा रही है कि अब प्रदेश की छवि बदलेगी और प्रदेश निवेश के बड़े हब के रूप में उभरेगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अनुसार समिट में चार लाख 28 हजार करोड़ रुपये के एमओयू साइन हुए हैं, जबकि 4 लाख करोड़ रुपये के प्रस्ताव भी सरकार के पास आए हैं। मुख्यमंत्री योगी ने खुद ही इन्वेस्टर्स समिट के सफल आयोजन की कमान संभाल रखी थी।

 

 

ये भी पढ़ेPM मोदी cm योगी ने किया 2019 का पहेले विकास मिशन का उद्घाटन

 

 

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा था कि निवेश की मॉनीटरिंग मुख्यमंत्री कार्यालय से की जाएगी और निवेश के जमीन पर उतरने तक वो शांत नहीं बैठेंगे। सरकार के दावों के बाद उम्मीद की जा रही है कि अगले कुछ वर्षों में यूपी में काफी तेज विकास होगा। ऐसे में जानें वो घोषणाएं जो यूपी का चेहरा बदल सकती हैं। आगे देखें..

  • उद्योगपति मुकेश अंबानी ने यूपी में 10 हजार करोड़ रुपये के निवेश का ऐलान किया। इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा कि दिसंबर 2018 तक यूपी के हर गांव को जियो कनेक्टिविटी से जोड़ देंगे। अगले तीन महीने में दो करोड़ जियो फोन प्रदेश में उपलब्ध हो जाएंगे।

  • एसेल ग्रुप के चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने प्रदेश में 18,750 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की। उन्होंने कहा, पिछली सरकार में हमने 30 हजार करोड़ रुपये के एमओयू पर साइन किए थे, लेकिन सिर्फ तीन हजार करोड़ रुपये के ही काम कर सके। इस बार 30 हजार करोड़ के प्रस्ताव दिए लेकिन सीएम ने काटकर 18750 करोड़ कर दिया। यह बदला हुआ माहौल है।

  • अडानी ग्रुप के गौतम अडानी ने 35 हजार करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की। उन्होंने कहा कि यूपी में वर्ल्ड क्लास फूड एंड एग्रो पार्क, लॉजिस्टिक पार्क, रोड व मेट्रो निर्माण में निवेश करेंगे। एक विश्व स्तरीय यूनिवर्सिटी भी बनाएंगे जिसमें स्किल सेंटर होगा। कोयला, खनन, रियल एस्टेट, बंदरगाह, छह लाख टन क्षमता का कोल्ड स्टोरेज व 1000 मेगावाट क्षमता की सोलर परियोजना भी शुरू करेंगे।

  • आदित्य बिड़ला ग्रुप अगले पांच साल में यूपी में 25 हजार करोड़ रुपये का निवेश करेगा। इसकी घोषणा ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने बुकी। उन्होंने उत्तर प्रदेश को कारोबार के लिए बेहद अनुकूल बताया। उन्होंने कहा कि यूपी में आदित्य बिड़ला ग्रुप नंबर वन इन्वेस्टर है। हमने सीमेंट, टेलीकॉम व कैमिकल सेक्टरों में निवेश किया है। यहां आदित्य बिड़ला ग्रुप की सीमेंट मैन्युफैक्चरिंग प्लांट है। अगले पांच साल में इसका विस्तार किया जाएगा।

  • महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने यूपी में 200 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की। उन्होंने वाराणसी में रिसॉर्ट डेवलप करने और वाराणसी के पास इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने की भी घोषणा की।

  • टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखर ने यूपी में 30 हजार लोगों की क्षमता का नया कैंपस खोलने का वादा किया। उन्होंने कहा कि बनारस में आईटी सेंटर डवलप करेंगे। लखनऊ का टीसीएस सेंटर जारी रहेगा और पहले से अधिक मजबूत किया जाएगा।

  • अपोलो हॉस्पिटल इंटरप्राजेज की कार्यकारी उपाध्यक्ष शोभना कामिनेनी ने कहा कि सीआईआई प्रदेश में स्किल डवलपमेंट पर काम बढ़ाएगा। इडिस्ट्रियल हब में चार नए सेंटर खोले जाएंगे। प्राइमरी शिक्षा को मजबूत करने के लिए कॉरपोरेट पार्टनरशिप पर काम करेंगे। वाटर मैनेजमेंट पर काम करेंगे। वाराणसी में हेल्थ केयर का काम शुरू करेंगे।

 

ये भी पढ़े – प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी खेलंगे क्रिकेट, दो आई आईटीयन युवकों द्वारा तैयार किया हुआ स्टार्टअप भरेगा लखनऊ में उड़ान

 

 

  • फिक्की के अध्यक्ष और एडेलविस समूह के अध्यक्ष रशेश शाह ने कहा कि यूपी में डेयरी सेक्टर में काफी संभावनाएं हैं। प्रदेश में भारी मात्रा में मानव संसाधन उपलब्ध है। फिक्की, प्रदेश सरकार को निवेश के लिए बेहतर जगह बनाने में सहयोग करेगा। उन्होंने कहा कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार के यूपी ट्रेवल मार्ट का आयोजन किया जाएगा। फिक्की इंडस्ट्री की मांग के अनुरूप मैनपावर उपलब्ध कराता रहा है। यूपी में निवेश बढ़ने से स्किल्ड मानव संसाधन की जरूरत पड़ेगी।

  • वहीं, देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूपी में डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर बनाने की घोषणा की। उन्होंने कहा इसमें लगभग 20 हजार करोड़ रुपये का निवेश होगा। यह अलीगढ़, आगरा, कानपुर, लखनऊ और चित्रकूट, बुंदेलखंड को जोड़ेगा। इससे 2.5 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा।हम ऐसा इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार करेंगे जो 21वीं सदी में यूपी को बुलंदियों पर ले जाएगा।

  • इंवेस्टर्स समिट के दूसरे दिन रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बुंदेलखंड में 300 एकड़ जमीन पर रेल कोच फैक्ट्री लगाने की घोषणा की। वहीं, उन्होंने ये भी कहा कि रायबरेली की कोच फैक्ट्री की क्षमता को बढ़ाया जाएगा, अगले वर्ष से यहां 1000 कोच, उसके अगले वर्ष 2,000 कोच और उसके अगले वर्ष 3,000 कोच बनाए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*