पालतू मवेशी छोड़ने पर लगेगा 300 रुपये जुर्माना

 

 

 

फतेहपुर। बेसहारा मवेशियों की संख्या कम करके यातायात सुगम बनाने व फसलों को सुरक्षित रखने के लिए प्रशासन ने नया कदम उठाया है। अब किसान अपना पशु छुट्टा छोड़ता है तो 300 रुपये जुर्माना देगा। इसके लिए हर गांव में प्रधान व सचिव डुग्गी पिटवाकर किसानों को सूचित करेंगे। जिला समिति ने लेते हुए यह नियम ग्राम पंचायत स्तर पर लागू करने का फैसला सुनाया है।

 

 

 

 

हाल ही में प्रशासन के सर्वे में करीब 22 हजार बेसहारा पशु पाए गए हैं। हालांकि, संख्या इससे अधिक है जो सड़कों पर यातायात में बाधा बनने के साथ खेतों में फसलों का नुकसान कर रहे हैं। डीएम संजीव सिंह पशु गणना की क्रास जांच कराने का निर्णय लिया है। इसकी जिम्मेदारी पंचायतीराज विभाग को दी गई है। गणना का मिलान पशु पालन विभाग के सर्वे से किया जाएगा। नई व्यवस्था में पशु छोड़ने की प्रवृत्ति पर रोक लगेगी तो वहीं बेसहारा मवेशियों को आश्रय मिल सकेगा। नए सिरे से हो रहे सर्वे के बाद पशुओं की टैंगिग पशु पालन विभाग करेगा और नियमित टीकाकरण करके उन्हें गोशालाओं में रखा जाएगा।
पहले प्रस्ताव होगा, इसके बाद नियम लागू

 

 

 

जिला पंचायतराज अधिकारी अजय आनंद सरोज ने बताया कि जिला समिति ने पशु छुट्टा छोड़ने वाले किसानों पर प्रति पशु 300 रुपये का जुर्माना तय कर दिया गया है। जब ग्राम पंचायत की खुली बैठक में उक्त प्रस्ताव को पास किया जाएगा तब गांवों तक प्रभावी होगा। चूंकि ग्राम पंचायत स्वतंत्र इकाई है, इसलिए उसकी बैठकों में भी इस प्रस्ताव को भी शामिल करने के निर्देश दिए गए हैं।
इन्होंने छोड़े पशु, दर्ज करो मुकदमा

 

 

 

खटौली गांव के विनोद पटेल, अनकेश पटेल ने ललौली थाने में एक तहरीर सौंपकर 24 किसानों के नाम दिए हैं। आरोप लगाया है कि इन किसानों ने अपने पशुओं को छुट्टा छोड़ा है। पशु वापस बांधने को कहा गया तो ये लड़ाई पर उतारू हो गए। तहरीर में आरोपितों पर मुकदमा दर्ज कर छुट्टा छोड़े पशुओं को पुन: घर पर बंधवाने का अनुरोध किया गया है

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

अयोध्या में आज अंतिम सुनवाई ,4 या 5 नवंबर को आ सकता है फैसला

मोल्डिंग ऑफ रिलीफ के तहत पेश होंगी दलीले : अयोध्‍या भूमि विवाद मामले में आज …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com