यूपी बोर्ड परीक्षा में 43 हजार छात्र रहे अनुपस्थित, सरकार ने दिया जांच के आदेश

स्कूल और जन शिक्षा विभाग, ओडिशा की ओर से आयोजित की गई हाई स्कूल सर्टिफिकेट (एचएससी) यानी दसवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के लिए कुल 5.71 लाख छात्रों ने अपना पंजीकरण कराया था।ओडिशा स्कूल और जन शिक्षा विभाग की ओर से आयोजित की गई दसवीं बोर्ड की परीक्षा में 43 हजार से अधिक छात्रों के परीक्षा में अनुपस्थित होने का मामला सामने आया है। ओडिशा सरकार ने इस घटना की जांच के आदेश जारी किए हैं। राज्य के स्कूल और जन शिक्षा सचिव विष्णुपद सेठी ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों (डीईओ) को पत्र लिखकर अपने-अपने क्षेत्रों में छात्रों की अनुपस्थिति की जांच के निर्देश दिए
स्कूल और जन शिक्षा विभाग, ओडिशा की ओर से आयोजित की गई हाई स्कूल सर्टिफिकेट (एचएससी) यानी दसवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के लिए कुल 5.71 लाख छात्रों ने अपना पंजीकरण कराया था। हालांकि, विभाग को जानकारी मिली की परीक्षा में केवल 5.3 लाख छात्र ही शामिल हुए हैं। इसके बाद विभाग की ओर से जांच के आदेश जारी किए गए हैं। परीक्षा में कुल 43,489 छात्रों की अनुपस्थिति दर्ज की गई है। 
राज्य के स्कूल और जन शिक्षा सचिव विष्णुपद सेठी ने जिला शिक्षा अधिकारियों को लिखे गए पत्र में उन्हें छात्रों के परीक्षा में अनुपस्थिति की जांच की रिपोर्ट 10 दिनों के भीतर जमा करने के आदेश दिए हैं। बता दें कि दसवीं की परीक्षा में छात्रों की सबसे अधिक अनुपस्थिति राज्य के मयूरभंज, गंजम और
ओडिशा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (बीएसई) की ओर से राज्य में दसवीं बोर्ड की परीक्षा का आयोजन 29 अप्रैल, 2022 से लेकर 7 मई, 2022 तक किया गया था। बीते साल 2021 में केवल 4, 412 छात्र परीक्षा में अनुपस्थित रहे थे। इस मामले पर राज्य के स्कूल और जन शिक्षा मंत्री समीर रंजन दास ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण छात्रों की शिक्षा को नुकसान पहुंचा है। ऐसा हो सकता है कि तैयारी में कमी के कारण छात्रों ने परीक्षा छोड़ी हो। 


प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

यूपी बोर्ड के कक्षा 10वीं व 12वीं के रिजल्ट की डेट, ऐसे करें चेक

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की तरफ से यूपी बोर्ड के 10वीं व 12वीं के …