Breaking News

त्रिपुरा में बेहतरीन जीत बाद ,बीजेपी सरकार बदलेगी इन सड़को के नाम …

त्रिपुरा में बेहतरीन जीत का आगाज कर चुकी बीजेपी सरकार बनाने जा रही है . बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष रहे बिप्लब देब अब राज्य के नए मुख्यमंत्री बने नजर आएंगे . वहीं जिष्णु देव वर्मा राज्य के उपमुख्यमंत्री होंगे. इसके अलावा बीजेपी राज्य में कई सड़कों के नाम बदलेगी.मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार , जिन सड़कों के नाम बीजेपी सरकार बदलेगी  उसकी  सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है मार्क्स-एंगेल्स सरणी सड़क की. क्योंकि यह वही लेन है जिसमें मुख्यमंत्री, कैबिनेट मंत्री समेत सरकार के आला अफसरों के बड़े बड़े  बंगले हैं.

 

 

 

 

ये भी पढ़े -बीजेपी की विधानसभा जीत के बाद जल रहा है त्रिपुरा

 

 

Image result for बिप्लब देब

ये है सड़को  के नाम –

आपको बता दें कि मार्क्स-एंगेल्स सरणी लेन प्रतिष्ठित उमाकांत अकादमी के सामने आती है. यह वही स्कूल है जिसे त्रिपुरा के राजा राधा किशोर माणिक्य ने सन 1904 में उनके राज्य के प्रधानमंत्री उमाकांत दास के नाम पर बनवाया था.नाम बदलने के पीछे त्रिपुरा बीजेपी प्रभारी सुनील देवधर का तर्क है कि लेफ्ट ने अपने शासन काल में किसी भी स्थानीय नेता के नाम पर सार्वजनिक स्थानों का नाम नहीं रखा. यहां तक कि उनके खुद के मुख्यमंत्री रहे नृपेन चक्रवर्ती की गुमनामी में मौत हो गई. हम लेफ्ट की तरह परंपरा भूलने का काम नहीं कर सकते हैं.

 

 

मार्क्स-एंगेल्स सड़क के साथ साथ  बीजेपी लेनिन सरणी सड़क का भी नाम बदलेगी. यह लेन ओरिएंट चौमुहुनी से अगरतला प्रेस क्लब तक आती है.सड़कों के अलावा बीजेपी कई लैंडमार्क का भी नाम बदलेगी. जैसे कि अगरतला के हो ची मिन्ह लैंडमार्क का नाम बीजेपी किसी आदिवासी नेता के नाम पर रखने की तैयारी में है. बीजेपी का मानना है कि वियतनाम के आंदोलनकारी हो ची मिन्ह ने भारत के लिए कभी कुछ नहीं किया, फिर उनका पुतला क्यों लगाया जाए.

 

 

बता दे की  त्रिपुरा में भाजपा ने 35 सीटें अपनी जीत तय कराई  हैं, वहीं उसकी गठबंधन सहयोगी आईपीएफटी ने 8 सीटें जीती हैं. भाजपा को 2013 के विधानसभा चुनाव में सिर्फ 1.5 फीसदी वोट मिले थे और 50 में 49 सीटों पर पार्टी के उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई थी. जबकि इस विधानसभा चुनाव में भाजपा को 43 फीसदी वोट मिले हैं.बता के मगलवार के  दिन  त्रिपुरा में रूसी क्रांति के नायक व्लादिमिर लेनिन की मूर्ति को बीजेपी सरकार ने गिरवा दिया था .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*