संकेतात्मक तस्वीर

सावधान! पहले से बीमार लोगों के लिए कोरोना बेहद खतरनाक, अध्ययन में खुलासा

नई दिल्‍ली। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस पहले से बीमार लोगों के लिए बेहद खतरनाक है। दिल की बीमारी (हृदय रोग) और डायबिटीज (मधुमेह) जैसी बीमारियों से जूझ रहे मरीजों की स्वस्थ व्यक्ति की तुलना में कोरोना से मृत्यु होने की संभावना 12 गुना अधिक है। वहीं, ऐसे मरीजों की स्वस्थ व्यक्ति के मुकाबले कोविड-19 से संक्रमित होने के बाद अस्पताल में भर्ती होने की छह गुना तक संभावना है। इस बात की जानकारी विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) द्वारा जारी रिपोर्ट में दी गई है।

यह भी पढ़ें: गलवान घाटी में 20 भारतीय जवान शहीद, पढ़िए झपड़ से अबतक के बड़े अपडेट

15 जून को प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है कि विश्व स्वास्थ्य निकाय ने इस बात की पुष्टि 82 लाख लोगों को संक्रमित करने वाली और 4 लाख से अधिक लोगों की जान लेने वाली इस बीमारी के मरीजों की रिपोर्ट का विश्लेषण करने के बाद की है। अमेरिका की संघीय एजेंसी ‘सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन’ (सीडीसी) ने डब्लूएचओ को मरीजों की रिपोर्ट का विश्लेषण करने के बाद जानकारी सौंपी।

पुरानी बीमारियों से जूझ रहे लोगों के भर्ती होने की संभावना भी अधिक

रिपोर्ट में अमेरिका में 22 जनवरी से 30 मई तक सामने आए 13 लाख संक्रमण के मामलों और 1,03,700 मौत के मामलों का विश्लेषण किया गया। इसमें सामने आया कि पांच में से एक (19.5%) अंतर्निहित बीमारियों वाले लोग 1.6% स्वस्थ लोगों की तुलना में मर गए। रिपोर्ट में बताया गया कि पुरानी बीमारियों से जूझ रहे लोगों के अस्पताल में भर्ती होने की संभावना भी अधिक थी। पहले से किसी बीमारी से जूझ रहे 45.4 फीसदी लोग अस्पताल में भर्ती हुए, जबकि बिना किसी बीमारी से ग्रसित 7.6% लोग ही अस्पताल में भर्ती हुए।

सीडीसी ने रिपोर्ट में कहा कि 13 लाख संक्रमित लोगों में 14 फीसदी मरीजों को अस्पताल में भर्ती करवाने की जरूरत पड़ी, दो फीसदी को गहन देखभाल और पांच फीसदी की मौत हुई। हालांकि, वास्तविक मृत्यु दर कम होने की संभावना रही क्योंकि हल्के या बिना किसी लक्षण वाले लोग अक्सर ठीक हो गए। विश्लेषण के अनुसार, गंभीर बीमारी और मृत्यु की संभावना उम्र के साथ बढ़ती है, विशेषकर पुरुषों और अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थितियों वाले लोगों में।

भारत समेत दुनिया भर के रिपोर्ट्स के अनुरूप है सीडीसी रिपोर्ट  

सीडीसी रिपोर्ट भारत सहित दुनिया भर की रिपोर्ट्स के अनुरूप है, जहां अन्य बीमारियों वाले लोगों को अस्पताल में भर्ती होने और मृत्यु का खतरा अधिक था। अमेरिका में, हृदय रोग (32%), मधुमेह (30%) और फेफड़ों की बीमारी (18%) कोविड-19 रोगियों में सबसे आम पुरानी बीमारियां हैं।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

मीटू मामले में फंसे अनुराग कश्‍यप! इन एक्‍ट्रेसेस का मिला साथ, इन्‍होंने किया विरोध  

एंटरटेनमेंट डेस्‍क। बॉलीवुड अभिनेत्री पायल घोष ने दावा किया है कि फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com