विकास पथ की राह पर पिता के नक्से कदम पर अरशद सिद्धिकी…

हर इंसान जब भी इस जीवन को पाता है तो उसका मकसद सिर्फ जीना नही होता बल्कि जीवन को काटना होता है। मगर कुछ लोग ऐसे भी होते है जिनको जीवन समाज के लिए मिलता है, उनमे ऐसे है इलियास आजमी पूर्व सांसद ज़िंहोने धौरहरा और शाहबाद के लिए वो किया जो दूसरों के लिए नजीर बन गया । और उनके संस्कारो को आगे बढ़ाया अरशद सिद्धिकी ने वॉ इस बार 2019 मे  धौरहरा लोकसभा प्रत्याशी है गठबंधन ने उनके ऊपर विश्वास किया हाथी के सिंबल पर वों चुनावी मैदान मे है उनके किए गए कामो और उनकी संस्था जो भी समाज के लिए कर रही है वों जमाना देख रहा है ।

गरीब किसान परिवार का बेटा अरशद आज जमाने के लिए जीता है और हो भी क्यो ना क्योकि उनके पिता ने शहाबाद सांसद बनने के बाद वो किया जिसे आज भी लोग याद कर रहे है । BN पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज की स्थापना हो या फिर इब्ने सीना फोर्मेसी कॉलेज BSP के मसीहा मां कांशीराम के नाम पर लाँ कॉलेज । गुजरात मे भूकंप हो या फिर उत्तराखंड केरला मे सैलाब ईराक अमेरिका युद्ध समय लोगो की मदद हो या फिर उन्हे अपनी संस्था रेड क्रेसेंट सोसाइटी ऑफ इंडिया के जरिए हर संभव मदद की और इनके सराहनीय कार्यो को देखकर बहन मायावती ने 29 लोकसभा छेत्र के अरशद सिद्दीकि को टिकट दी ताकि उनके कार्यो और कोशिशों को और भी आगे बढ़ाया जा सके।लखीमपुर धौरहरा मे निशुल्क कैंप चलाये और मुफ्त दवा , एंबुलेंस के संचालन के जरिए जनता की मदद मे 102  एंबुलेंस सेवा  आरंभ ,डेंगू से बचाव के लिए फोगिंग मशीन से छिड़काव, गर्मियों मे पानी का निशुल्क प्रबंध, गुरुद्वारों,मंदिरो , मस्जिदों मे बैठने के लिए दरी चटाइयो का प्रबंध, दहेज प्रथा को हटाने के लिए सामूहिक विवाह का आयोजन और जनता के लिए आवाज़ उठाना उनकी  संस्था का महत्व बन चुका है।अरशद के पिता जब सांसद बने तो 10 एमए का ट्रांसफ़ार्मर लगवाया और SMA का  ट्रांसफ़ार्मर मोहंदी मे  जनता को बिजली कटौती से बचाया । तमाम नगरो मे कस्बो मे विदुतिकरण करा कर अपनी छाप छोड़ी। 2004 मे सांसद बनते ही इलियास आजमी ने खीरी को पिछड़ा जिला घोषित करने की मांग रखी। उनकी कोशिश से खीरी पिछड़ा जिला घोषित हुआ । घोषित होते ही हर साल 100 से 150 रुपए जिले को मिल रहे है।

1996 के लोकसभा पहुचने के बाद केन्द्रीय खाद्य मंत्री देवेन्द्र प्रसाद यादव ने गरीबो को सस्ता अवास देने के लिए बीपीएल और अंतोरय योजना बनाने और उसे प्रधानमंत्री से मंजूरी दिलाने मे इलियास आजमी ने भूमिका निभाई।NRHM योजना को ढंग से लाविध्यालय, रेल मंत्रालय से कहकर ट्रेनों को स्टापेज कराना  केन्द्रीय स्कूल नवोदय स्कूल कृषिकेंद्र से टीवी टावर, बड़े पुल की स्वीकृति , बड़ी सड़क के निर्माण मे भुमिका से लेकर तमाम काम आज खीरी की जनता के लिए रामबाड़ बन चुके है। और अब अगर उनके बेटे अरशद सिद्धिकी चुनाव जीत कर आते है। तो जनता उनके विकास कार्यो को भी देख सकेगी।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

कांग्रेस के लिये मुसीबत बनते चिदंबरम!

कृष्णमोहन झा/ पूर्व केंद्रीय वित्त एवं गृह मंत्री तथा कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में अग्रणी …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com