निर्भया के दादा से CMO की बदसलूकी, कही इतनी बड़ी बात  

नई दिल्‍ली। दिल्ली की निर्भया के पैतृक गांव बलिया में परिजनों से बदसलूकी का मामला सामने आया है और इसका आरोप बलिया के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (CMO) पर है। दरअसल, निर्भया के पैतृक गांव में निर्भया के नाम पर अस्पताल बना है, जिसमें डॉक्टर की मांग के लिए निर्भया के परिजन धरने पर बैठे थे। सीएमओ ने कहा कि जिस गांव में किसी ने भी डॉक्टर की पढ़ाई नहीं की हो वहां के अस्पताल में हम डॉक्टर नहीं देंगे। उनके इस रवैये से आहत निर्भया के दादाजी ने कहा कि निर्भया का कोई अपमान ना करे।

निर्भया के परिजनों के मुताबिक, बलिया के सीएमओ ने कहा कि आज तक निर्भया के गांव में किसी ने भी डॉक्टर की पढ़ाई तो की नहीं और यहां के लोगों को डॉक्टर चाहिए। मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी ने ये भी कहा कि पहले डॉक्टर की पढ़ाई करें फिर इसी अस्पताल में डॉक्टर बन जाएं। इस गांव में डॉक्टर तो बनाया नहीं तो अस्पताल क्यों खुलवाया। हम कहां से डॉक्टर लाएं। जितने पद हैं उतने डॉक्टर हैं नहीं।

परिजनों के मुताबिक, सीएमओ ने कहा कि अस्पताल हमने नहीं बनवाया, जिसने बनवाया है उससे डॉक्टर की मांग की जाए। उन्‍होंने निर्भया को भी नहीं छोड़ा और कहा कि निर्भया कौन है। अगर वह डॉक्टर की पढ़ाई कर रही थी तो दिल्ली क्यों गई?

बता दें कि निर्भया के पैतृक गांव मड़ावरा कला में निर्भया के नाम पर सरकार ने अस्पताल बनवाया था, ताकि निर्भया का सपना पूरा हो सके। निर्भया का सपना था कि वह डॉक्टर की पढ़ाई कर गांव में अस्पताल खोले, ताकि गांववालों को बाहर न जाना पड़े। पांच साल पहले अस्पताल तो आधा-अधूरा बन गया मगर वहां आज तक डॉक्टर और नर्स तक नहीं पहुंचे।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

छात्रों

अमृतसर में 10वीं से 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए स्कूल फिर से खुले

चंडीगढ़ । अमृतसर में 10वीं से 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए स्कूल फिर से …