बिहार के सीएम ने बाल विवाह और दहेज़ प्रथा के खिलाफ छेड़ा अभियान, दिलाई शपथ

बिहार सरकार ने अब बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ अपना अभियान छेड़ दिया है | बिहार में पूर्ण शराबबंदी कानून के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक और सामाजिक आंदोलन की शुरुआत गांधी जयंती के अवसर पर कर दी है |

यह भी पढ़े -बिहार में बहार,बांध के उद्घाटन से पहले ही बिहार सरकार की खुल गयी पोल

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने  सम्राट अशोक कन्वेंशन हॉल में नवनिर्मित बापू कन्वेंशन हॉल से औपचारिक तौर पर अभियान की शुरुआत की | इस दौरान मुख्यमंत्री ने 21 जनवरी 2018 को बाल विवाह , दहेज प्रथा के समर्थन में मानव श्रृंखला बनाने का ऐलान किया | बता दें कि  21 जनवरी 2017 को बिहार शराबबंदी के समर्थन में मानव श्रृंखला का गवाह बना था. जिसमें 4 करोड़ लोगों ने हिस्सा लिया था |

गांधी मैदान स्थित बापू के नाम पर नवनिर्मित हॉल में महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाल विवाह, दहेज प्रथा के खिलाफ औपचारिक तौर पर अभियान की शुरूआत की. कार्यक्रम में नीतीश कुमार के अलावा उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय चौधरी के अलावा बिहार सरकार के आधे दर्जन मंत्री मौजूद थे. कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने जहां लोगों को जागरूक करने के लिए राजधानी पटना से गाड़ियों को रवाना किया वहीं एक ऐप के जरिए भी लोगों को अभियान से जोड़ने की शुरुआत की गई |

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बाल विवाह और दहेज प्रथा एक दूसरे से जुड़े हुए हैं | उन्होंने कहा लोकसंवाद कार्यक्रम में एक महिला ने उन्हें इसके बारे में सुझाव दिया था | तब हमने इस पर काम करना शुरू किया | उनका कहना है कि केवल भौतिक परिवर्तन से कुछ नहीं होता जब तक अंदर से परिवर्तन लोगों में न आए |

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

बाढ़ की गंभीरता देख नीतीश ने फिर किया एरियल सर्वे

बिहार में बाढ़ की विभीषिका देख सीएम नीतीश कुमार काफी चिंतित हैं। गंगा, महानंदा, गंडक, …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com