Breaking News

भाजपा सांसद मोहनलाल गंज को किया उनके घर में कैद

Edited by- अनुराग मिश्र

 

2000 ग्राम रोजगार सेवको ने सांसद के आवास का किया घेराव

लखनऊ- मोहनलाल गंज भाजपा सांसद कौशल किशोर को ग्राम रोजगार सेवको ने उन्ही के घर की घेराबदी कर दी पुरे उत्तर प्रदेश से आये ग्राम सेवको ने भाजपा सांसद को अपनी मांगे पूरी करने के लिए कहा लगभग 2 हजार लोग उनके आवास के सामने मोर्चा खोलने की तैयारी में है मगर प्रशासन और एल आई यू को इसकी भनक तक नहीं लाग पाई यू तो भाजपा सांसद कौशल किशोर हर दिन लगभग 500 लोगो से रूबरू होते है व समस्याओ का समाधान करते है| मगर इस समस्या का समाधान कैसे किया जाये सोचने वाली बात है अब ये भी हो सकता है ग्राम सेवको  की जो मांगे है उनको मुख्यमंत्री तक ले जाये या सभी मांगो को संसद में उठाये|

 

क्या है रोजगार सेवको की मांगे

 

प्रदेश में रोजगार सेवकों का न तो ईपीएफ़ कटता है, न ही बीमा की सुविधा दी जाती है। आकस्मिक स्थितियों में अगर किसी ग्राम रोजगार सेवक की मौत हो जाती है तो उसका परिवार सड़क पर आ जाता है। पिछले 11 वर्षों में तमाम ग्राम रोजगार सेवक हमारे बीच नहीं रहे और उनके परिवारों को कोई सहायता भी नहीं दी गई।” ग्राम रोजगार सेवकों की यह पीड़ा ग्राम रोजगार सेवक संगठन के कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह ने बताई।

 

जानिए क्या काम होता है रोजगार सेवको का

 

पंचायत में चाहे विधवा, वृद्धावस्था पेंशन दिलवाना हो या मनरेगा के श्रमिकों को भुगतान दिलाना हो, ग्राम पंचायत

के सोशल ऑडिट से लेकर ग्राम पंचायत की बैठक तक, परिवार रजिस्टर, जन्म-मृत्यु पंजीकरण, राज्य लोकसभा चुनाव में ड्यूटी, ये सारे काम ग्राम पंचायत में ग्राम रोजगार के जिम्मे ही आता है। इसके बावजूद रोजगार सेवक आर्थिक तंगी में जी रहे हैं।

 

प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह ने मांग की है कि सभी ग्राम रोजगार सेवको को नियमित कर राज्य कर्मचारियों के बराबर वेतनमान एवं अन्य सुविधाए दी जाए साथ ही  पंचायत सहायक  भर्ती पर रोक की मांग को लेकर ग्राम रोजगार सेवक संघर्ष समिति के बैनर तले प्रदेश भर से सैकड़ों ग्राम रोजगार सेवको ने सांसद के घर का घेराव किया

 

ग्राम रोजगार सेवकों को हटाया गया प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह बताते हैं, “बहुत सी ग्राम पंचायतें नगरीय क्षेत्र में आ गई हैं, वहां से ग्राम रोजगार सेवकों का काम खत्म किया जा रहा है, जो ग्राम रोजगार सेवक 11 वर्षों से न्यूनतम मानदेय पर काम कर रहा है, अचानक नौकरी खत्म होने पर कहां जाए। प्रदेश में बहुत सी ग्राम पंचायत ऐसी हैं, जो रिक्त हैं, वहां इन ग्राम रोजगार सेवकों को समायोजित किया जा सकता है। इन सब मुद्दों को लेकर सांसद कौशल किशोर के आवास पर सुबह से हजारो की तादात में ग्राम सेवक रोजगार एकत्र हो अपनी मागों को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे

 

सांसद ने दिलाया भरोसा

 

सांसद ने कहा है कि उन्होंने तत्काल फोन पर प्रदेश के ग्राम्य विकास, समग्र ग्राम विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा. महेन्द्र सिंह से इस संवंध में वार्ता कि है और मंत्री जी ने 23 जून सुबह 10 बजे ग्राम रोजगार सेवको के प्रतिनिधि मंडल से उनकी समस्त मांगो को सुनकर उनका उचित निस्तारण करने का भरोसा दिया है साथ ही  ग्राम रोजगार सेवको की मांग को मुख्यमंत्री जी के समक्ष रखकर उचित समाधान किया जायेगा भाजपा सरकार किसी को भी निराश नहीं होने देती है एवं सरकार युवाओ के रोजगार की सुरक्षा के प्रति चिंतित है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*