Breaking News

लखनऊ :फर्जी मार्कशीट बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश 4 जालसाज हुए गिरफ्तार

लखनऊ -छले कई सालों से फेल छात्रों की फर्जी मार्कशीट बना कर उनसे ठगी कर रहे थे पुलिस ने इनके पास से विभीन्न शिक्षण संस्थानों की 410 फर्जी मार्कशीट और उन्हें बनाने के उपकरण बरामद किए है । इस गिरोह का मास्टर माइंड गाजियाबाद का मनीष प्रताप सिंह है जो ऐसे ही मामले में राजिस्थान जेल में बंद है ।

 लखनऊ की क्राइमब्रांच ने फर्जी एजुकेशन बोर्ड बना कर दसवीं और बारहवीं क्लास की फर्जी मार्कशीट बनाने वाले गिरोह  का पर्दाफाश किया है ,पकड़े गए जालसाजों ने कैसरबाग के एक काम्प्लेक्स में पान कार्यालय बनाया था और यही से नकली मार्कशीट बनाने का धंदा कर रहे थे । पुलिस के अनुसार ये ठग नवयुवकों को भ्रमित कर यूपी सरकार का फर्जी सरकारी गजतब्दीख कर उनसे रजिस्ट्रेशन के नाम पर मोती रकम लेकर दसवीं और बारहवीं और अन्य कक्षाओं का अंकपत्र बना कर वेवसाइट पर लोड कर देते थे ,जिससे ये लगे कि ये अंक उत्तर सरकारी संस्थाओं द्वारा जारी किया गया है । ये जालसाज  राजकीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान लखनऊ , बोर्ड ऑफ हायर एजुकेशन दिल्ली , राज्य मदरसा शिक्षा बोर्ड यूपी , राज्य मुक्त विद्यालय परिषद यूपी, एयर भारतीय विद्यालय शिक्षा संस्थान की वैबसाइट का इस्तमाल करते थे और ये खुद इन फर्जी संस्थाओं के अधिकारी बन जाते थे ।

 पुलिस ने इनके पास से 400 से अधिक इन फर्जी संस्थाओं के अंक पत्र बरामद किए है । पकड़े गए जालसजो में अमित सिसोदिया ,शाही अहमद ,विकास श्रीवास्तव ,खालिद कादरी शामिल है । इस गिरोह का मास्टर माइंड मनीष प्रताप सिंह उर्फ मांगे राम है जो इस समय जालसाजी के मामले में राजिस्तान की जेल में बंद है । पुलिस के अनुसार 2012 से संचालित ये गिरोह अब तक हजारो नवयुवकों को फर्जी मार्कशीट दे चुका है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*