बाबरी विध्वंस पर बड़ा फैसला, एलके आडवाणी, जोशी, कल्याण सिंह सहित सभी 32 आरोपी बरी

लखनऊ। बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में आज सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए जज एसके यादव ने कहा कि वीएचपी नेता अशोक सिंघल के खिलाफ कोई साक्ष्य नहीं हैं। फैसले में कहा गया है कि फोटो, वीडियो, फोटोकॉपी में जिस तरह से सबूत दिए गए हैं, उनसे कुछ साबित नहीं होता है।

यह भी पढ़ें: हाथरस दुष्कर्म मामला: PM मोदी ने की मुख्यमंत्री से बात, पुलिस पर पीड़िता के परिजनों का गंभीर आरोप

बाबरी विध्वंस मामले में अदालत का फैसला आ गया है। 6 दिसंबर, 1992 को अयोध्या में जो हुआ उस पर सीबीआई की विशेष अदालत ने फैसला सुनाते हुए सभी आरोपियों को बरी कर दिया है। विशेष अदालत ने फैसला सुनाते हुए पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, एमपी की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती, बीजेपी के सीनियर नेता विनय कटियार समेत कुल 32 आरोपियों को बरी कर दिया है।

अपना फैसला पढ़ते हुए जज एसके यादव ने कहा गया कि ये घटना पूर्व नियोजित नहीं थी, संगठन के द्वारा कई बार रोकने का प्रयास किया गया। जज ने अपने शुरुआती कमेंट में कहा कि ये घटना अचानक ही हुई थी।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

हनुमान की तरह क्या पूरी फिल्म इंडस्ट्री यूपी ले आयेंगे योगी !

  # नोएडा में आबाद टीवी न्यूज इंडस्ट्री के बाद क्या अब हिंदी फिल्म इंडस्ट्री …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com