कोरोना पर सार्क देश: PM मोदी बोले- घबराने की नहीं, साथ लड़ने की जरूरत

नई दिल्‍ली। पूरी दुनिया कोरोना के खौफ में है। केंद्र की मोदी सरकार ने कोरोना को राष्ट्रीय आपदा तक घोषित कर दिया है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस महामारी से निपटने के लिये देश और वैश्विक स्तर पर अभियान चला रहे हैं। इसी कड़ी में पीएम मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सार्क देशों के नेताओं से चर्चा की। इसमें श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबया राजपक्षे, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी, मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम सोली, भूटान के प्रधानमंत्री, नेपाल के प्रधानमंत्री शामिल रहे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमें कोरोना से घबराने की नहीं बल्कि साथ लड़ने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सार्क देशों को सावधानी बरतनी होगी। पीएम मोदी ने कहा कि सार्क देशों में 150 से कम केस सामने आए हैं। भारत में कोरोना को लेकर जागरुकता अभियान चल रहा है। कोरोना को WHO ने महामारी घोषित किया है। इससे चौकन्ना रहने की जरूरत है।

पीएम मोदी ने कहा, भारत में जनवरी से स्क्रीनिंग की जा रही है। कोरोना के खतरे को देखते हुए 1400 भारतीयों को अलग-अलग देशों से लाया गया है। इसके साथ ही पड़ोसी देशों के कुछ नागरिकों की भी हमने मदद की है।

यह भी पढ़ें: कोरोना इफेक्‍ट: MP में स्कूल-कालेज बंद, सभी विधायकों का होगा स्वास्थ्य परीक्षण

वहीं, मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम ने कहा कि मैं पीएम मोदी को धन्यवाद कहना चाहता हूं। संकट के समय में हम साथ आते हैं। उन्होंने कहा कि कोई देश इस वायरस से अकेले नहीं निपट सकता है, इसमें सबकी मदद चाहिए। राष्‍ट्रपति इब्राहिम ने कहा कि मालदीव भाग्यशाली है कि उसे भारत की सहायता मिली है, इसके लिए मैं पीएम मोदी और भारत के लोगों का शुभकामनाएं देता हूं। हमारे लिए दवाएं और मेडिकल टीम भेजी गईं।

उधर, श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने कहा कि इस वायरस को फैलने से रोकना हमारी बड़ी चुनौती है। श्रीलंका वापस आने वाले लोगों को 14 दिनों की निगरानी में रखा जा रहा है। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने वुहान से भारतीयों को निकालने के लिए पीएम मोदी का तारीफ की। उन्होंने कहा कि वुहान से हमारे 23 छात्रों को निकालने के लिए पीएम मोदी का धन्यवाद।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

कोरोना इफेक्‍ट: घंटाघर पर CAA-NRC विरोधी धरना स्थगित, प्रदर्शनकारी महिलाएं हटीं

लखनऊ। राजधानी के हुसैनाबाद स्थित घंटाघर पर पिछले 66 दिनों से नागरिकता कानून व एनआरसी …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com