Covid 19: राहुल से बजाज ऑटो के MD बोले- भारत जैसा लॉकडाउन कहीं नहीं हुआ

नई दिल्‍ली। कोरोना वायरस महामारी संकट के बीच देश की अर्थव्यवस्था को लेकर पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार पर निशाना साध रहे हैं। वे विशेषज्ञों से बात करके अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने को लेकर बातचीत कर रहे हैं। इसी कड़ी में राहुल गांधी ने गुरुवार को बजाज ऑटो के प्रबंध संचालक राजीव बजाज से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की।

यह भी पढ़ें: गर्भवती हथिनी की ‘हत्या’ पर सियासत, स्मृति के निशाने पर राहुल गांधी

बातचीत के दौरान राहुल गांधी ने पूछा कि आपके यहां स्थिति कैसी है, जिसके जवाब में बजाज ने कहा कि सभी के लिए नया माहौल है। हम इसमें ढलने की कोशिश कर रहे हैं। इस बीच कारोबार के साथ बहुत कुछ हो रहा है। कांग्रेस सांसद ने पूछा कि किसी ने नहीं सोचा था कि पूरी दुनिया में लॉकडाउन हो जाएगा, ऐसा विश्व युद्ध के समय पर भी नहीं हुआ था, जिसके जवाब में राजीव बजाज ने कहा कि भारत में एक तरह का ड्रैकियन लॉकडाउन है। ऐसा कहीं पर भी नहीं हुआ। हमारे यहां की तुलना में कई देशों में बाहर निकलने की अनुमति थी।

ऐसी कोई मेडिकल सुविधाएं नहीं हैं, जो इससे न निपट सकें

राहुल गांधी ने कहा कि कुछ लोग ऐसे हैं जो इससे निपट सकते हैं लेकिन करोड़ों मजदूर ऐसे हैं, जिन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। इसके जवाब में बजाज ने कहा कि भारत ने पश्चिम की ओर देखा। पूर्वी देशों में इसपर बेहतर काम हुआ है। पूर्वी देशों ने तापमान, मेडिकल सहित तमाम मुश्किलों के बावजूद बेहतर काम किया है। ऐसी कोई मेडिकल सुविधाएं नहीं हैं, जो इससे न निपट सकें।

उन्‍होंने कहा, मुझे लगता है कि हमारे यहां फैक्ट और सच्चाई में कमी रह गई। लोगों को लगता है कि ये बीमारी कैंसर की तरह है। लोगों की सोच बदलने और जीवन को पटरी पर लाने की जरूरत है। इसमें लंबा समय लग सकता है। आम आदमी के नजरिए से लॉकडाउन काफी मुश्किल है। भारत जैसा लॉकडाउन कहीं नहीं हुआ। हर कोई बीच का रास्ता निकालना चाहता है। हमें जापान और स्वीडन की तरह नीति अपनानी चाहिए थी। वहां नियमों का पालन हो रहा है लेकिन लोगों का जीवन मुश्किल नहीं बनाया जा रहा।

राहुल गांधी ने कहा- मेरे हिसाब से लॉकडाउन फेल है

कांग्रेस नेता ने कहा कि हमारे यहां प्रवासी मजदूर हैं लेकिन हम पश्चिम की तरफ देखते रहे। हम खुद अपनी मुश्किलों को क्यों नहीं देखते हैं? इसपर बजाज ऑटो के एमडी ने कहा कि यदि आप मार्च में वापस जाएं तो आप तीन महीने पहले क्या सोचते? राहुल ने कहा कि हमारी चर्चा राज्यों को ताकत देनी चाहिए और केंद्र सरकार का समर्थन करना चाहिए, इसे लेकर हुई थी। केंद्र को रेल-विमान पर जबकि मुख्यमंत्री और जिलाधिकारी को जमीन पर लड़ाई लड़नी चाहिए थी। मेरे हिसाब से लॉकडाउन फेल है। भारत ने दो महीने पहले पॉज बटन दबाया। अब केंद्र सरकार पीछे हट रही है।

बातचीत के दौरान राजीव बजाज ने कहा कि यदि कोई मास्क नहीं पहन रहा है तो उसे सड़क पर बेइज्जत किया जा रहा है, जो गलत है। आज दुनिया में सरकारें सीधे आम लोगों को मदद दे रही हैं। भारत में सरकार की तरफ से आम लोगों के हाथ में पैसा नहीं दिया गया।““““““““““““““““““““““““

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

मैं अपने घर बसपा में पुन: लौटा- राज किशोर सिंह

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश की राजनीति में राज किशोर सिंह एक चर्चित नाम बन चुके हैं। …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com