केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर

केंद्रीय विदेश मंत्री ने कहा- हर लोकसभा क्षेत्र में खुलेंगे पासपोर्ट सेवा केंद्र  

नई दिल्‍ली। पासपोर्ट सेवा दिवस के मौके पर आज केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने देश और देश के बाहर पासपोर्ट जारी करने वाले भारतीय अधिकारियों से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान उनके कार्य की प्रशंसा की तो देश में पासपोर्ट सेवा केंद्रों की संख्या बढ़ाने की योजना और ई-पासपोर्ट पर भी चर्चा की।

यह भी पढ़ें: लखनऊ में एक दिन में मिले 65 कोरोना पॉजिटिव, अब तक 887 संक्रमित

विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा, पासपोर्ट सेवा दिवस के मौके पर मैं भारत और विदेश में हमारे सभी पासपोर्ट जारी करने वाले अधिकारियों को सम्मानित करना चाहता हूं। हम बहुत अलग परिस्थितियों में बैठक कर रहे हैं। मैंने देखा है कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के बीच आप सभी ने सार्वजनिक आवश्यकताओं को बदलने के लिए कितने बेहतर तरीके से प्रतिक्रिया दी है।

488 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में यह सेवा प्रदान करने में सक्षम

विदेश मंत्री ने कहा कि हम ऐसे हर लोकसभा क्षेत्र में पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र खोलने का विचार कर रहे हैं, जहां आज की तारीख में कोई पासपोर्ट सेवा केंद्र (पीएसके) नहीं है। उन्होंने कहा, अभी तक हम 488 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में यह सेवा प्रदान करने में सक्षम हुए हैं। लगातार आगे बढ़ रही यह महत्वाकांक्षी प्रक्रिया कोरोना के चलते कुछ समय के लिए रुकी है।

उन्‍होंने कहा, हम चिप-सक्षम ई-पासपोर्ट के लिए भारतीय सुरक्षा प्रेस नासिक और राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र के साथ काम कर रहे हैं। ई-पासपोर्ट का परिचय हमारे यात्रा दस्तावेजों की सुरक्षा को मजबूत करेगा। इस उत्पादन के लिए खरीद प्रक्रिया चल रही है और मैं इस कार्य को जल्द से जल्द पूरा करने की आवश्यकता पर जोर दूंगा।

क्या है पासपोर्ट सेवा दिवस?

साल 1966 तक पासपोर्ट जारी करने की प्रक्रिया को प्रशासनिक अनुदेशों के द्वारा विनियमित किया जाता था। पासपोर्ट जारी किए जाने संबंधी शक्तियों का प्रयोग सरकार द्वारा भारत के संविधान की सातवीं अनुसूची की सूची-1, मद संख्या 19 के साथ पठित अनुच्छेद 73 के आधार पर किया जाता था। हालांकि, संसद सत्र के रूप में नहीं था, इसलिए सरकार ने पासपोर्ट अध्यादेश 1967 प्रख्यापित किया और छह माह के बाद इसे वर्तमान पासपोर्ट अधिनियम, 1967 से प्रतिस्थापित कर दिया, जो 24 जून, 1967 से प्रवृत्त हुआ। इस दिन को अब पासपोर्ट सेवा दिवस के रूप में मनाया जाता है।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

कानपुर मुठभेड़: एक्शन मोड में प्रशासन, विकास दुबे का घर बुलडोजर से ध्वस्त, चौबेपुर SHO सस्पेंड

कानपुर। जिले में चौबेपुर के बिकरू गांव में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्‍या करने …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com