यूरोपीय न्यायिक अदालत

ईयू अदालत  ब्रिटेन ब्रेक्सिट को एक तरफा कर सकता है रद्द  

लक्जमबर्ग सिटी | यूरोपीय न्यायिक अदालत ने सोमवार को कहा कि ब्रिटेन, ईयू के अन्य 27 सदस्यों की अनुमति के बगैर ब्रेक्सिट को रद्द कर सकता है। अदालत ने एक बयान में कहा, “जब एक सदस्य देश ने यूरोपीय परिषद को यूरोपीय संघ (ईयू) से हटने की अपनी मंशा के बारे में अधिसूचित किया है, जैसा कि ब्रिटेन ने किया है, तो वह सदस्य देश उस अधिसूचना को वापस लेने के लिए स्वतंत्र है।”

अदालत ने आदेश में कहा, “इसकी संभावना बहुत हद तक ईयू व उस सदस्य देश के बीच हुए वापसी समझौते के निष्कर्ष पर निर्भर है। उस सदस्य देश के साथ प्रवेश की जबर्दस्ती नहीं की जा सकती या अगर इस तरह का कोई समझौता नहीं हुआ है तो उसकी वैधता समाप्त नहीं होती है।”

रपट के अनुसार, न्यायाधीशों ने अपने आदेश में कहा कि ब्रिटेन की सदस्यता की शर्तो में फेरबदल के बिना यह किया जा सकता है। यह आदेश हाउस ऑफ कॉमंस के प्रधानमंत्री थेरेसा मे के ईयू के साथ ब्रेक्सिट समझौते पर मंगलवार को होने वाले मतदान से पहले आया है। सांसदों के व्यापक तौर पर उनके प्रस्ताव को खारिज किए जाने की संभावना है।

अदालत ने ब्रिटेन सरकार व यूरोपीय आयोग के अनुच्छेद 50 के तहत एकतरफा वापसी के निर्णय नहीं ले सकने पर दोनों पक्षों की बहस को खारिज कर दिया। अनुच्छेद 50, दो साल लंबी प्रक्रिया है, जो ईयू से हटने वाले देश के लिए शुरू होती है।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

इसलिए आज का दिन है ख़ास…

भारतीय एवं विश्व इतिहास में 20 मार्च की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं- 1351 – …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com