Breaking News

सापा की सुलह के लिए फेल हुआ मुलायम का फार्मूला, शिवपाल को महासचिव के रूप में काराना चाहते हाई समायोजित

सापा के राष्ट्रीय अधिवेशन से पहले पार्टी में सुलह के लिए मुलायम सिंह द्वारा पेश फॉर्मूला बेकार हो रहा । सपा संस्थापक मुलायम सिंह चाहते थे कि राष्ट्रीय टीम में शिवपाल को महासचिव के रूप में समायोजित किया जाए। शिवपाल ने अपने तरफ से भी सकारात्मक रुख दिखाया था। उन्होंने राष्ट्रीय अधिवेशन से पहले और अध्यक्ष चुने जाने के बाद अखिलेश को बधाई भी दी थी। हालांकि सम्मेलन के बाद दोनों के बीच मुलाकात नहीं होने से माना जा रहा था कि खटास अभी दूर नहीं हुई है।

ये भी पढ़े – समाजवादी पार्टी के राष्ट्रिय सम्मलेन में अखिलेश यादव को मिली 5 साल की राष्ट्रिय अध्यक्षता

मुलायम सिंह को भले ही सपा का संरक्षक कहा जाता हो लेकिन पार्टी में अधिकृत तौर पर उनके पास कोई ओहदा नहीं है। संरक्षक पद पार्टी के संविधान में नहीं है। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषणा में भी उनके नाम का उल्लेख नहीं है।

सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 55 सदस्यीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी घोषित कर दी लेकिन इसमें शिवपाल यादव को जगह नहीं मिल पाई है। किरनमय नंदा को फिर से उपाध्यक्ष और संजय सेठ को कोषाध्यक्ष बनाया गया है। रामगोपाल यादव को प्रोन्नत करके प्रमुख महासचिव का दायित्व सौंपा गया है। आजम खां, नरेश अग्रवाल, रवि प्रकाश वर्मा, सुरेन्द्र नागर और इंद्रजीत सरोज समेत 10 महासचिव बनाए गए हैं। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी समेत 10 नेताओं को राष्ट्रीय सचिव की जिम्मेदारी मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*