पूर्व आईएएस शाह फैसल

कश्मीर में शाह फैसल पर बढ़ा एक्शन, लगा PSA

श्रीनगर। जम्‍मू-कश्‍मीर में राज्य के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती पर पीएसए (पब्लिक सिक्‍योरिटी एक्‍ट) लगाने के बाद अब पूर्व आईएएस शाह फैसल पर भी PSA लगाया गया है। प्रशासन ने शाह फैसल पर पीएसए के तहत मुकदमा दर्ज किया है। IAS की नौकरी छोड़कर राजनीति में आने वाले शाह फैसल जम्मू एंड कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट (JKPM) के अध्यक्ष हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद शाह फैसल को पिछले साल 14 अगस्त को सीआरपीसी की धारा 107 के तहत हिरासत में लिया गया था। बाद में उन्हें कस्टडी में लेकर एमएलए हॉस्टल में रखा गया था। अभी ये तय नहीं है कि शाह फैसल को उनके घर में शिफ्ट किया जाएगा अथवा एमएलए हॉस्टल में ही रखा जाएगा।

अब्दुल्ला-मुफ्ती पर भी लगा है पीएसए

राज्‍य से अनुच्छेद-370 हटाने के बाद प्रशासन ने हाल ही में पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, पीडीपी नेता और पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती, अली मोहम्मद सागर, सरताज मदनी, हिलाल लोन और नईम अख्तर पर भी पब्लिक सिक्योरिटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

क्या है PSA?

पब्लिक सिक्योरिटी एक्ट, जम्मू-कश्मीर का एक विशेष कानून है। इसे 1978 में फारूक अब्दुल्ला के पिता शेख अब्दुल्ला ने लागू किया था। ये कानून किसी भी शख्स को एहतियान हिरासत में लेने से जुड़ा है। इस कानून के प्रावधानों के मुताबिक राज्य सरकार किसी भी व्यक्ति के खिलाफ बिना केस चलाए उसे दो साल तक जेल में रख सकती है। कहा जा सकता है कि ये कानून देश के दूसरे हिस्सों में लागू राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) जैसा है, लेकिन देश में NSA लागू होने से दो साल पहले ही जम्मू-कश्मीर में PSA लागू हो चुका था।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

RSS प्रमुख भागवत पर भड़कीं सोनम कपूर, कह दी इतनी बड़ी बात

एंटरटेनमेंट डेस्‍क। राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत तलाक पर दिए गए अपने बयान …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com