Breaking News

आंचलिक पत्रकारो की समस्याओ का जमीनी स्तर पर निराकरण करे सरकार

by – krishan mohan jha

 

पत्रकार सुरक्षा कानून सहित विभिन्न मांगों को लेकर प्रदेश भर के पत्रकारों ने सोमवार को राजधानी भोपाल के रविन्द्र भवन में महारैली आयोजित की । कार्यक्रम की सुरुवात माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण के साथ हुई 

 

 

महारैली में प्रदेशभर के विभिन्न पत्रकार संगठन के  सैकड़ों  पत्रकारों ने शिरकत की।   रैली को संबोधित करते हुए इन्डियन फेडरेशन ऑफ़ वर्किंग जर्नलिस्ट (IFWJ) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कृष्ण मोहन झा ने कहा की प्रदेशभर के अलग अलग क्षेत्रों में विभिन्न संगठन सक्रीय है जो  समय समय पर अपनी मांग सरकार से करते आए है। यह पहला अवसर है जब 17 संगठन एक मंच पर आये है। इसलिए सरकार को हमारी समस्याओं को गंभीरता से लेना चाहिए। झा ने कहा की यह लड़ाई पहली नहीं है।

 

ये भी पढ़े – सीतापुर के बीजेपी सांसद और बीजेपी विधयक के समर्थकों के बीच चले लात घूंसे

 

आईफडब्ल्यूजे लंबे समय से इस लड़ाई को लड़ रहा है। उन्होंने कहा की हमारे साथियों के लिए रिटायरमेंट के बाद जीवनयापन का कोई साधन नहीं है । आंचलिक पत्रकारों की तो समस्याएं और बड़ी है उन्हें तो न कोई सुविधा है तात्कालिक लाभ इसलिए उन्हें अन्य लाभ के साथ बेहतर श्रद्धानिधि की सुविधा मिलनी चाहिए। झा ने कहा की इस हेतु सरकार को जमीनी स्तर पर प्रयास करने होंगे।

 

पत्रकार सुरक्षा कानून लम्बे समय से  हमारी मांग रही है रोज पत्रकारों पर रिपोटिंग के दौरान हमले हो रहे है सरकार इस तरफ ध्यान ही नहीं दे रही है विगत दिनों मैंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह को पत्रकार कानून पूरे दसश में लागु करने हेतु ज्ञापन सौपा था उन्होंने जल्द इसे लागु करने का आश्वासन भी दिया था ,ग्रामीण अंचल के पत्रकारों को आवर भी बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है .

 

 

ये  भी पढ़े – शहर के बहार विकास नगर में बनेगा नया बस अड्डा

 

रैली को सम्बोधित डरते हुए मालवांचल पत्रकार संघ के अध्यक्ष अतुल पाठक ने कहा की ग्रामीण अंचल के पत्रकारों को सरकार  की किसी भी सुविधा का लाभ नहीं मिल रहा है पत्रकारों की अधिमान्यता  बड़ी कठिन है समाचार पत्र मालिक तरह तरह के नाटक करते है ,सरकार तहसील स्तर की अधिमान्यता के नियमो को शिथिल करे ,श्रद्धा निधि मिलने में भी काफी समस्याएं झेलनी पड़ रही है. मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार परिषद् के संरक्षक नलिनकांत बाजपेयी ने बह कहा की महाकोशल ओर आस पास के क्षेत्रो में भी पत्रकारों को काफी परेशान होना पड़ रहा है ,हम पत्रकारों के लिए सुरक्षा की मांग कर रहे है सुविधा उन्हें जो देना है वो दे लेकिन पत्रकारिता के लिए स्वस्थ माहौल उपलब्ध करना शासन का काम है.

 

 

कार्यक्रम के संयोजक अवधेश भार्गव ने कहा की हमने अलग अलग संगठन को इस महा रैली के माध्यम से माला बनाने का प्रयास किया है इस आंदोलन को सफल बनाने में हमारे वरिष्ठ साथी कृष्णमोहन झा ,राजेंद्र जैन ,अतुल पाठक,नलिनकांत बाजपेयी जी सहित सभी संगठनों के साथियो का सहयोग मिला है ,अभी तो यह शुरुवात है आगे हम ओर भी आंदोलन करेंगे यदि हमारी मांगे पूरी होती है तो धन्यवाद रैली नहीं तो बड़ा आंदोलन होगा . इस दौरान रविन्द्र भवन से जनसम्पर्क तक एक रैली निकालकर समस्याओ के निराकरण की मांग को लेकर धरना देकर संचालक को  एक ज्ञापन भी सौपा गया।

 

यह है प्रमुख मांगे

  1 पत्रकार सुरक्षा एक्ट लागु किया जाए।

  2 जनसम्पर्क विभाग में सभी कामों में पारदर्शिता लागु की जाए।

  3 श्रद्धानिधि के लिए पत्रकारो की उम्र 60 वर्ष कर इसमें अधिमान्यता की शर्त समाप्त की जाए व इसे प्रतिमाह 25 हजार रूपये की जाए।

 4 पत्रकारो को आवास के लिए सस्ती दरों पर जमीन उपलब्ध कराई जाए।

  5 गैर अधिमान्य पत्रकारों का बिना शर्त पत्रकार स्वास्थ्य बीमा लागु किया जाए।

 6 पत्रकारों की मृत्यु पर उसके परिवार को एक मुश्त 25 लाख रूपये की सहायता प्रदान की जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*