अगर आपका बच्चा रोना बंद नहीं करता तो अपने ये टिप्स

कोई भी मां-बाप अपने बच्चे का रोना बर्दाश्त नहीं कर सकते। नवजात बच्चा जब रोता है तो पैरेंट्स के लिए यह समझ पाना मुश्किल होता है कि बच्चा रो क्यों रहा है। वो अंदाजा लगाते हैं कि क्या बच्चा भूखा है, क्या उसका डायपर गीला है, क्या उसे रैशेज हो गए हैं, क्या उसे कहीं दर्द हो रहा है आदि…

यह भी पढ़ें- सावधान! सड़क पर लगे जाम से महिलाओं को हो सकती है ये बड़ी बीमारी..

अधिकतर पैरंट्स छोटे बच्चे के साथ भी यही अप्रोच अपनाते हैं। कई स्टडीज में भी इस बात का खुलासा हो चुका है कि बच्चे को रोता देख पैरेंट्स का ब्रेन तुरंत ऐक्शन मोड में आ जाता है कि किस तरह से बच्चे की मदद की जाए और उसका रोना बंद हो जाए। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि रोते हुए बच्चे को चुप कराते समय आखिर हमें उसे क्या कहकर चुप कराना चाहिए?

छोटा बच्चा, अपने रोने की वजह को पूरी तरह से शब्दों में बयां नहीं कर पाता है और कई बार तो उसे खुद भी पता नहीं होता कि उसे क्या महसूस हो रहा है और वह रो क्यों रहा है? ऐसे में तुरंत एक्शन में आकर बच्चे से यह पूछना कि उसे कैसे महसूस हो रहा है और वह क्यों रो रहा है, सही नहीं होगा। हो सकता है कि बच्चा गुस्सा, कन्फ्यूजन, निराशा या फिर बोरियत की वजह से रो रहा हो।

यह भी पढ़ें- इस तरीके से लगाई गई डोरबेल करा सकती है घर में कलह

बच्चे से न कहें कि रोना बंद करो
सबसे पहले तो बच्चे से रोना बंद करो- ऐसा बिल्कुल न कहें। आपके ऐसा बोलने से बच्चे को लगेगा कि आप उसे समझ ही नहीं पा रहे हैं और वह पहले की तुलना में ज्यादा जोर-जोर से रोने लगेगा। साथ ही कई बार छोटे बच्चों को ऐसा भी महसूस हो सकता है कि उनके इमोशन्स की कोई कद्र ही नहीं है। लिहाजा सबसे पहला स्टेप यह है कि अगर आपका बच्चा रो रहा है कि तब सबसे पहले उससे सहानुभूति व्यक्त करें।

ध्यान भटकाने की कोशिश न करें
दूसरी गलती जो ज्यादातर पैरंट्स करते हैं वह यह है कि बच्चे का रोना बंद करवाने के मकसद से वे बच्चा का ध्यान भटकाने की कोशिश करते हैं। लेकिन ऐसा करने से हम मुख्य मुद्दे से भटक जाते हैं और वह यह है कि हमें बच्चे की मदद करनी है ताकि वह अपने इमोशन्स से डील करना खुद ही सीखें।

यह भी पढ़ें- सर्दियों में ऐसे रखें बालों का ध्यान, रूसी की समस्या हो जाएगी गुम

ये बातें कहें  बच्चे से..
अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर एक रोते हुए छोटे बच्चे से हम क्या कहें? सबसे पहले तो खुद शांत रहें। आपकी बेचैनी और झुंझलाहट बच्चे की परेशानी और बढ़ाएगी। अपनी आवाज की पिच को धीमा रखें और फिर बच्चे से कहें..
मैं तुम्हारी मदद करूंगी
मैं समझ रही हूं कि तुम्हारे लिए ऐसा करना मुश्किल है
मैं समझ सकती हूं कि तुम्हें कैसा महसूस हो रहा है
तुम्हें एक ब्रेक की जरूरत है
क्या तुम मुझे यह समझा सकते हो कि आखिर तुम्हें ऐसा क्यों महसूस हो रहा है।

तुम मेरे साथ सुरक्षित हो।

 

 

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

सर्दियों में चेहरे को बनाना है खूबसूरत, तो अपनाएं ये 4 ब्यूटी ट्रीटमेंट 

मुंबई! दिसंबर के शुरू होते ही गुलाबी ठंडक ने दस्तक दे दी है. जैसा की आप सभी …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com