EWS और LIG फ्लैट्स 4.50 लाख में, आवेदन की आय सीमा बढ़ी

अब वे लोग भी निम्न आय वर्ग (EWS) और अल्प आय वर्ग (LIG) आवास ले सकेंगे, जिनकी सालाना आमदनी एक और दो लाख रुपये से अधिक है। ईडब्ल्यूएस के लिए आय सीमा एक लाख रुपये से बढ़ाकर तीन लाख और एलआईजी के लिए दो लाख से छह लाख रुपये सालाना कर दी गई है। सोमवार को हुई आवास विकास परिषद की बोर्ड बैठक में इस बाबत प्रस्ताव मंजूर कर लिया गया।

ये भी पढ़े – नहीं बढ़ेंगे LPG सिलेंडर के रेट, तेल कंपनियों ने कीमतों में बदलाव न करने का क्यों लिया फैसला

 इस छूट का लाभ प्रधानमंत्री आवास योजना में आवेदन करने वालों को भी मिलेगा। बोर्ड ने इस योजना के तहत राजधानी में 4,752 आवास बनाने का प्रस्ताव भी पास कर दिया। ये आवास परिषद की सुल्तानपुर रोड स्थित अवध विहार योजना में बनाए जाएंगे।

पीएम आवास योजना में चार मंजिला फ्लैट बनाए जाएंगे। इनका सुपर एरिया 34 वर्गमीटर और कवर्ड एरिया 22.77 वर्गमीटर होगा। फ्लैट की कीमत 4.50 लाख रुपये तय की गई है। इसमें 2.50 लाख प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सब्सिडी होगी और दो लाख रुपये आवंटी को देने होंगे। यह पैसा वह एकमुश्त या चार किश्तों में दे सकेगा।

इसे लेकर आवास विकास परिषद ने दो महीने पहले डिमांड सर्वे भी किया था। इसमें उनसे सहमति पत्र लिया गया, जिन्होंने पीएम आवास योजना के लिए डूडा या सूडा में आवेदन किया है।

आवास विकास परिषद के सचिव महेंद्र कुमार का कहना है कि आय सीमा का स्लैब काफी पुराना था। अब महंगाई भी बढ़ गई है। साथ ही अधिक से अधिक लोगों को किफायती आवास योजना का लाभ मिले, इसके लिए ईडब्लूएस और एलआईजी की आय सीमा बढ़ाई गई है। इसका फायदा यह भी होगा कि परिषद के ग्राहक बढ़ेंगे। अभी एक लाख और दो लाख आय सीमा होने के कारण जो आवेदन नहीं कर पाते थे, अब वे भी इसमें शामिल हो सकेंगे।

 

आवास विकास परिषद के सचिव महेंद्र कुमार ने कहा कि अवध विहार में प्रधानमंत्री आवास येाजना के तहत आवास बनाने का प्रस्ताव बोर्ड ने पास कर दिया है। ईडब्लयूएस और एलआईजी आवास आवंटन के लिए सालाना आय सीमा में बढ़ोतरी का प्रस्ताव भी पास कर दिया गया है।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

हैवानियत की हदें हुईं पार, सामने आया दिल दहला देने वाला मामला

मेरठ। बलात्कार एक ऐसी गंदगी है हमारे समाज की जिसको साफ़ करना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com