इस कड़कड़ाती ठंड में 11 घंटे तक पड़ी रही मासूम नवजात

दिल्ली।कभी कभी कुछ ऐसी खबर देखने या सुनने को मिल जाती है जिसे देखकर रुह कांप जाती है।ऐसा ही एक मामला दिल्ली में देखने में आया है जहां एक बिन ब्याही मां ने समाज के डर से अपनी ही नवजात बेटी को कपड़े में लपेटकर नाली में फेंक दिया।मासूम बच्ची 11 घंटे तक इस कड़कड़ाती ठंड में ऐसे ही पड़ी रही। दूसरे दिन एक देवदूत बनी युवती उसी रास्ते से गुजर रही थी तभी उसकी नजर उस बच्ची पर पड़ी। जिसके बाद तुंरत युवती ने बच्ची को पास के अस्पताल ले गई ,जहां डॉक्टरों ने बच्ची की हालत स्थिर बताई है।

यह भी पढ़ें:Covid 19 : कोरोना के नए रूप को देखते हुए भूटान में 7 दिन का लॉकडाउन

पुलिस ने सीसीटीवी से बच्ची की असली मां की पहचान कर ली है जो बच्ची को स्वीकार करने को तैयार नहीं है। मामले सीडब्ल्यूसी के पास है।देवदूत बनकर आई काजल पुलिस के मुताबिक बच्ची के लिए देवदूत बनकर आई काजल (25) (बदला हुआ नाम) परिवार के साथ पांडव नगर में रहती है। वह प्राइवेट नौकरी करती है। 13 दिसंबर को सुबह 9.45 बजे वह घर से दफ्तर के लिए निकली। रास्ते में उसने देखा कि कुछ लोग

यह भी पढ़ें:भारत के लिए कैसा होगा 2021,ख़त्म होगा कोरोना या और बढ़ेगी मुश्किलें ?

13 दिसंबर की रात बिन ब्याही युवती ने दिया जन्म

मामले की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची। वहां की सीसीटीवी फुटेज की जांच की गई तो पता चला कि देर रात को पड़ोस की एक युवती ने उसे नाली में फेंका था। युवती से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि वह बिना शादी के ही गर्भवती हो गई थी। 13 दिसंबर की रात को उसने अपने घर के बाथरूम में बच्ची को जन्म दिया। इसके बाद दुनिया के डर से उसने बच्ची को एक कपड़े में लपेटकर नाली में फेंक दिया। चाइल्ड वेलफेयर कमेटी मामले की जांच कर रही है। फिलहाल बच्ची की मां उसे स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं है।

 

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

पूर्व राज्यपाल माता प्रसाद का SGPGI में देर रात निधन

लखनऊ : अरुणाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व राजस्व मंत्री माता …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com