Breaking News

नीलामी में मिले इतने पैसे कि इस क्रिकेटर को खुद नहीं हो रहा था यकीन: IPL 2018

ऑस्ट्रेलिया के युवा तेज गेंदबाज एंड्रयू टाई इस साल आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से खेलते नजर आएंगे। गुजरात लॉयंस की तरफ से खेलते हुए पिछले साल एंड्रयू टाई का प्रदर्शन शानदार रहा था। टी-20 क्रिकेट में एंड्रयू टाई का रिकॉर्ड बेहद अच्छा है, यही वजह है कि उन्हें पंजाब की टीम ने मोटी रकम देकर इस साल अपनी टीम में शामिल किया है।

 

ये भी पढ़े~आगरा में आरएसएस नेता और कथा वाचक की रंगरलियाँ आई सामने, पोटोस हुई वायरल

 

ऑस्ट्रेलिया के इस गेंदबाज ने साल 2016 में भारत के खिलाफ अपना टी-20 डेब्यू किया था। इसके बाद टाई ने इस साल पिछले महीने जनवरी में इंग्लैंड के खिलाफ वनडे में अपना डेब्यू किया। आईपीएल में उन्हें अच्छी कीमत मिलने पर टाई बेहद खुश हैं, लेकिन इस खुशी के साथ वो अपनी कीमत से हैरान भी हैं। नीलामी के बाद टाई ने कहा, ”एक बार फिर आईपीएल का हिस्सा बनने के लिए बेहद उत्सुक हूं”। टाई ने कहा, ”नीलामी से पहले उन्हें इस बात का अंदाजा बिल्कुल नहीं था कि उन पर टीमें इतना ज्यादा पैसा लगाएगी। जब टाई को पता चला कि उन्हें पंजाब की टीम ने उन्हें 7.2 करोड़ में खरीदा है तो उन्हें इस बात पर यकीन ही नहीं आया”।

 

ये भी पढ़े ~जानिये वजन बढाने और कम करने के सबसे असरदार तरीके

 

टाई के लिए नीलामी के दौरान कई फ्रेंचाइजियों ने उन पर दांव लगाया, लेकिन अंत में पंजाब की टीम ने बाजी मार ली। पिछली बार गुजरात की तरफ से खेलते हुए टाई को आईपीएल के ज्यादा मैचों में खेलने का मौका नहीं मिला था। कम मैच खेलने के बावजूद भी टाई टूर्नामेंट के टॉप फाइव विकेट टेकर के लिस्ट में थे। गुजराच लॉयंस की तरफ से 6 मैचों में एंड्रयू टाई 12 विकेट अपने नाम किए । इस दौरान उन्होंने हैट्रिक भी लिया।

 

टाई के लिए नीलामी के दौरान कई फ्रेंचाइजियों ने उन पर दांव लगाया, लेकिन अंत में पंजाब की टीम ने बाजी मार ली। पिछली बार गुजरात की तरफ से खेलते हुए टाई को आईपीएल के ज्यादा मैचों में खेलने का मौका नहीं मिला था। कम मैच खेलने के बावजूद भी टाई टूर्नामेंट के टॉप फाइव विकेट टेकर के लिस्ट में थे। गुजराच लॉयंस की तरफ से 6 मैचों में एंड्रयू टाई 12 विकेट अपने नाम किए । इस दौरान उन्होंने हैट्रिक भी लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*