दिल्ली के इस सीजन 15 में आइपीएल ने खेला अनोखा खेल, जानकर रह जायेगे दंग

इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें सीजन में दिल्ली की टीम फिलहाल 6 मुकाबला जीतकर प्वाइंट्स टेबल के 5वें नंबर पर है। प्लेआफ में पहुंचने की उम्मीदें अब भी टीम के पास है यदि वो बाकी बचे दोनों मैच जीत लें। बुधवार को खेले गए मैच में दिल्ली ने राजस्थान को 8 विकेट से हराकर अपने नेट रन रेट में भी सुधार कर लिया है। आइपीएल के इस सीजन में दिल्ली ने अबतक अनोखा खेल दिखाया है। दरअसल टीम इस पूरे सीजन में कभी भी लगातार दो मुकाबले अपने नाम नहीं कर पाई है। पहले मुकाबले की बात करें तो दिल्ली के सामने आइपीएल इतिहास की सबसे सफल टीम मुंबई थी

। इस मैच में दिल्ली ने मुंबई के सामने 179 रनों का लक्ष्य हासिल कर 4 विकेट से मुकाबला अपने नाम किया और जबरदस्त तरीके से सीजन की शुरुआत की। टीम के प्रदर्शन में अचानक गिरावट आई और अगले दो मुकाबलों में उसे दो नई टीम गुजरात टाइटंस और लखनऊ सुपर जाइंट्स से हार का सामना करना पड़ा। चौथे मुकाबले में दिल्ली ने एकबार फिर से वापसी की और कोलकाता के खिलाफ मैच में 215 रन का बड़ा स्कोर खड़ा कर 44 रनों से जीत दर्ज की।

दरअसल इस मैच में वार्नर ने 61 रनों की पारी खेली थी। 5वें मुकाबले में टीम को एकबार फिर से रायल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ 16 रनों से हार का सामना करना पड़ा। इस मैच में दिल्ली के सामने 190 रनों का लक्ष्य था लेकिन टीम 173 रन ही बना पाई। छठे मुकाबले में टीम ने एकबार फिर से जबरदस्त वापसी करते हुए बल्लेबाजों से सजी पंजाब की टीम को 9 विकेट से करारी मात दी। इस मैच में दिल्ली के गेंदबाजों का जादू चला और पंजाब केवल 115 रन बनाकर ढेर हो गई और दिल्ली ने मुकाबला 9 विकेट से जीत लिया।

7वें मुकाबले में टीम राजस्थान रायल्स के खिलाफ हार गई। 223 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम 207 रन ही बना पाई। 8वें मुकाबले में टीम ने फिर वापसी की और सीजन में दूसरी बार केकेआर को हराया। अगले मुकाबले में लखनऊ ने रोमांचक तरीके से 6 रन से मैच जीतकर दिल्ली की लगातार दो जीत की उम्मीदों पर पानी फेर दिया। 10वें मुकाबले में टीम ने शानदार फार्म में चल रही सनराइजर्स हैदराबाद को 21 रनों से हराया। इस मैच में दिल्ली ने एकबार फिर से 200 से ऊपर का आंकड़ा छूआ और हैदराबाद को 186 के स्कोर पर रोक दिया।

चेन्नई के खिलाफ अगले मैच में टीम एकबार फिर अर्श पर नजर आई और 208 रनों के जवाब में केवल 117 रन पर आलआउट हो गई। चेन्नई ने ये मुकाबला 91 रनों के भारी अंतर से जीत लिया। इतनी बड़ी हार झेलने के बाद जब टीम को प्लेआफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखने के लिए जीत की जरुरत थी तो उसने राजस्थान के खिलाफ शानदार खेल का परिचय देते हुए 8 विकेट से मुकाबला जीत लिया है। राजस्थान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 160 रन बनाए थे और दिल्ली ने 2 विकेट खोकर मुकाबला जीत लिया।

अब दिल्ली के दो मैच बचे हैं और यदि टीम अपने इसी ट्रेंड को फालो करती है तो उसका प्लेआफ में पहुंचने का सपना टूट सकता है और यदि उसे प्लेआफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखना है तो इस ट्रेंड को तोड़ कर आने वाले दो मैचों में, पंजाब और मुंबई के खिलाफ जीत दर्ज करनी होगी।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

कई जिलों में आये नए एक्टिव केस, नोएडा में सबसे ज्यादा हैं संक्रमित तो लखनऊ में ये है हाल

उत्तर प्रदेश में पिछले कई दिनों से कोरोना के मामले में कोई खास बढ़ोतरी नहीं …