क्या दिल्ली में फिर से लगने जा रहा है लॉकडाउन ?

दिल्ली में जिस तरह से प्रदूषण का मामला बढ़ रहा है उसको देख कर लग रहा है दिल्ली में दम घुट जायेगा |इसी को लेकर आज दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई है | इससे पहले दिल्ली सरकार ने सुप्रीम कोर्ट ने एक एफिडेविट दायर किया है|

इसमें दिल्ली सरकार ने कहा कि वह दिल्ली में लॉकडाउन लगाने को तैयार है, लेकिन यह  कारगर तब ही होगा जब इसे पूरे NCR में लागू किया जाएदिल्ली में प्रदूषण का इस तर लगातार बढ़ता जा रहा दिल्ली में सांस लेना मानो मौत को गले लगाने बारबार हो गया है |

केंद्र सरकार की तरफ से सॉलिस्टर जनरल ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि दिल्ली और उत्तरी राज्यों में वर्तमान में पराली जलाना प्रदूषण का प्रमुख कारण नहीं है क्योकि इसका योगदान सिर्फ 10 % है | सबसे बड़ी हिस्सेदारी धूल की है |

अब इस मामले में बुद्धवार को सुनवाई होगी | सुनवाई के आखिर में कोर्ट ने कहा कि केंद्र सरकार, एयर क्वालिटी मॉनिटरिंग कमीशन मिलकर NCR के राज्यों से आज या कल में मीटिंग करे |

कब कितनी खराब मानी जाती है हवा की गुणवत्ता

बता दें कि वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) शून्य से 50 के बीच रहने पर हवा को अच्छा माना जाता है, जबकि 51 और 100 के बीच एक्यूआई ‘संतोषजनक’ श्रीणी में माना जाता है. वहीं एक्यूआई जब 101 और 200 के बीच रहता है प्रदूषण को ‘मध्यम’, जबकि 201 और 300 के बीच इसे खराब माना जाता है. 301 और 400 के बीच हवा को ‘बेहद खराब’ माना जाता है, जबकि 401 और 500 के बीच एक्यूआई को ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है.

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

BSNL अब अपने सभी पोस्टपेड प्लान के साथ इरोज नाउ सब्सक्रिप्शन प्रदान करेगी|

इरोज नाउ ने शुक्रवार को कंटेंट पार्टनरशिप के विस्तार की घोषणा की। इसने अपने प्रीपेड …