कर्नाटक चुनाव में बीजेपी की बड़ी मुश्किलें, गिर सकती है सरकार

बीएस येदीयुरप्पा के सामने सबसे बड़ी चुनौती आ खड़ी है बहुमत साबित करने की दरसल बहुमत साबित करने के लिए 112 मतों की जरुरत है 222 पर चुनाव हुए है जिसमे बीजेपी के पास 104 विधायक है

ये भी पढ़े – कर्नाटक चुनाव में खलबली, कर्नाटक सीएम ने पीएम को भेजा दिया नोटिस

कहा ये जा रहा है कि 12 लिंगायत विधायक, जो कांग्रेस या जेडीएस में हैं, वो येदियुरप्पा का समर्थन कर सकते हैं। येदियुरप्पा खुद लिंगायत समुदाय से आते हैं। जेडीएस के कुमारस्वामी वोक्कालिगा समुदाय से हैं। यह आकलन येदियुरप्पा का हो सकता है। लेकिन इन विधायकों को अपनी सदस्यता जाने का भी खतरा है। संविधान की 10 वीं अनुसूची के अनुसार जब तक दो तिहाई विधायक नहीं चाहेंगे, पार्टी में टूट नहीं हो सकती है।
ऐसे में एक रास्ता उनके पास बचता है। यदि ये विधायक मतदान के दौरान अनुपस्थित हो जाते हैं, तो विधानसभा में कुल विधायकों की संख्या घट जाएगी। तब भाजपा बहुमत के प्राप्त कर सकती है। क्या विधायक इसके लिए तैयार होंगे, और कितने विधायक भाजपा की बात मानेंगे, कहना मुश्किल है।

लिहाजा कहा जा सकता है कि येदियुरप्पा की राह मुश्किल भरी है। बहुमत का आंकड़ा जुटाना इतना आसान नहीं है। कहीं ऐसा न हो कि उन्हें लेने के देने पड़ जाए।

फिलहाल, भाजपा के सामने सुप्रीम कोर्ट की भी चुनौती है। कल मामले की सुनवाई होनी है। कोर्ट ने भाजपा से समर्थक विधायकों की सूची मांगी है। यदि कोर्ट संतुष्ट होता है, तो उन्हें विधानसभा में बहुमत साबित करना होगा। परन्तु, कोर्ट असंतुष्ट दिखी, तो क्या फैसला होगा, कहना मुश्किल है। हो सकता है कोर्ट बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन के समय को घटा दे।

 

वैसे, सरकारिया कमीशन ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि एक महीने तक का भी समय दिया जा सकता है। इसके बावजूद ऐसे कई फैसले मौजूद हैं, जहां कोर्ट ने बहुमत साबित करने के समय को कम कर दिया है।

Check Also

देश

घुसपैठियों को लेकर सरकार का अंतिम फैसला, खत्म कर देंगे देश से नाम-निशान

भारतीय जनता पार्टी की केन्द्र व राज्य सरकार अवैध घुसपैठियों को देश से बाहर करने …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com