Breaking News
छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा बीते 13 सालों से चालाए जा रहे लोक सुराज अभियान अपने अंजाम तक

चुनावी साल में लोक सुराज अभियान के तीसरे चरण का आगाज 11 मार्च रविवार से हुआ है, जो आगामी 31 मार्च को समाप्त होगा. इस अभियान में मुख्यमंत्री प्रदेश के सभी 27 जिलों का दौरा कर वहां जारी विकास कार्यों की समीक्षा कर समाधान शिविरों की व्यवस्था का न केवल औचक निरीक्षण कर रहे हैं बल्कि अचानक किसी भी गांव में चौपाल लगाकर लोगों से सीधा संवाद भी स्थापित कर रहे हैं.

 

ये भी पढ़े – सुकमा से ग्रामीणों को आगवा करने वाले सात व्यक्ति गिरफ्तार

लोक सुराज अभियान के तहत मुख्यमंत्री राज्य के अंतिम छोर और नक्सल हिंसा पीड़ित जिले सुकमा के ग्राम इंजरम में आयोजित लोक समाधान शिविर में शामिल हुए. इस दौरान मुख्यमंत्री न केवल समाधान शिविर में शामिल हुए बल्कि ग्राम इंजरम से भेज्जी तक करीब 20 किलोमीटर सड़क का नामकरण शहीद जगजीत सिंह के नाम पर करने की घोषणा भी की. साथ ही इस मार्ग का नाम पट्टिका का अनावरण भी किया. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 30 में सुकमा से कोंटा तक बन रही सड़क का बाइक पर बैठकर निरीक्षण किया.

वहीं सीएम ने इंजरम के समाधान शिविर में युवाओं को खेल सुविधा देने के लिए वहां 50 लाख रुपए की लागत से मिनी स्टेडियम बनवाने की घोषणा की है. इसके अलावा उन्होंने आसिरगुड़ा से मेटागुड़ा तक 5 किलोमीटर लंबी सड़क निर्माण के प्रस्ताव को भी तत्काल मंजूरी दी है. इसके अलावा उन्होंने पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग से प्रधानमंत्री आवास योजना, ऊर्जा विभाग से प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य योजना), प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना आदि की प्रगति का भी ब्यौरा लिया. सीएम ने इंजरम में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 104 मकानों को निःशुल्क विद्युतीकरण के निर्देश दिए हैं.

 

जनता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने मद्देड़ में बस स्टैंड निर्माण के लिए 50 लाख, कोंगोंपल्ली-संगमपल्ली मार्ग में सोलर लाइट लगाने के लिए 30 लाख और मद्देड़ में सामुदायिक भवन निर्माण के लिए 20 लाख रुपए की मंजूर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*