संकेतात्मक तस्वीर

हाईलेवल कमेटी ने सही माना चीनी ऐप्स बैन का फैसला, कंपनियों के पास एक मौका

नई दिल्‍ली। भारत-चीन बॉर्डर विवाद के बीच देश में 59 चीनी ऐप्स को बैन कर दिया गया और अब इस फैसले को केंद्र सरकार की हाईलेवल कमेटी ने भी सही माना है। सरकार के इस फैसले को सही मानने वाली हाईलेवल कमेटी में गृहमंत्रालय, कानून मंत्रालय, इलेक्ट्रॉनिक एवं आइटी मंत्रालय, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अधिकारियों और प्रतिनिधियों के अलावा CERT-In (Computer Emergency Response Team) के प्रतिनिधि शामिल हैं।

यही नहीं, केंद्र सरकार की समिति ने भी चीनी ऐप्स को बैन करने के फैसले पर अपनी मुहर लगा दी है। इन ऐप्स की डाटा साझा करने की कार्यप्रणाली के मद्देनजर आइटी एवं इलेक्ट्रॉनिक सचिव ने अपने इमरजेंसी अधिकार का प्रयोग करते हुए बैन लगाने का फैसला किया था। बुधवार को सरकार की समिति ने भी अपनी बैठक में इस फैसले को सही माना है।

चीनी ऐप्‍स के प्रतिनिधियों के पास एक मौका

आपको बता दें कि चीनी ऐप्स पर अंतरिम रोक लगाई गई है। अब अंतिम फैसला लेने से पहले इन चीनी ऐप्स के प्रतिनिधियों को समिति के सामने अपनी बात रखने का एक मौका मिलेगा। जानकारी के अनुसार, एक हफ्ते के अंदर इन कंपनियों के प्रतिनिधि समिति के सामने अपना पक्ष रख सकते हैं।

गौरतलब है कि सोमवार देर रात को भारत सरकार ने 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था। इन ऐप्स को देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताया गया था। बैन ऐप्स में सबसे अधिक पॉपुलर ऐप TikTok भी शामिल था। हालांकि, टिकटॉक का कहना था कि वह किसी भी देश को डेटा शेयर नहीं करता है।  

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

Jio vs Airtel vs Vi: 2GB डेटा-कॉलिंग प्लान रोजाना, कीमत 600 रुपये

गैजेट्स डेस्क | प्रीपेड ग्राहकों में वैसे तो सबसे ज्यादा पॉप्युलर रोज 1.5 जीबी डेटा …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com