Breaking News

मोहल्ला अस्सी’ होगी रिलीज, हाईकोर्ट ने सेंसर बोर्ड को दिए आदेश

 

नई दिल्ली: सनी देओल अभिनीत बॉलीवुड की व्यंग्यात्मक फिल्म ‘मोहल्ला अस्सी’ के प्रदर्शन का रास्ता साफ हो गया है. दिल्ली हाई कोर्ट ने सेंसर बोर्ड द्वारा प्रस्तावित 10 में से नौ कट को रद्द करते हुए उसे निर्देश दिया कि वह एक हफ्ते के भीतर फिल्म को ‘ए’ प्रमाण पत्र दे. न्यायमूर्ति संजीव सचदेवा ने क्रॉसवर्ड इंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह निर्देश दिया. कंपनी ने फिल्म प्रमाणन अपीलीय अधिकरण (एफसीएटी) द्वारा पिछले साल नवंबर में दिए गए आदेश को चुनौती दी थी. एफसीएटी ने प्रदर्शन के लिये फिल्म को प्रमाण पत्र देने से मना कर दिया था.

ये भी पढ़े ~ आमिर खान- जान से मारने की धमकी देना दुर्भाग्यपूर्ण है……

दिल्ली उच्च न्यायालय ने 30 जून 2015 को फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगा दी थी. अदालत ने पहली नजर में इससे धार्मिक भावनाएं आहत होने के मद्देनजर इसके प्रदर्शन पर रोक लगा दी थी. क्रॉसवर्ड ने अपनी याचिका में केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) के 14 जून 2016 और एफसीएटी के 24 नवंबर 2016 के आदेश को चुनौती दी थी. सीबीएफसी ने उसे फिल्म प्रदर्शित करने के लिये प्रमाण पत्र जारी करने से मना कर दिया गया था जबकि एफसीएटी ने फिल्म में 10 कट करने को कहा था. एफसीएटी ने कहा था कि इसके बाद अधिकरण इसकी समीक्षा करेगा और मामले पर पुनर्विचार करेगा.

ये भी पढ़े ~ ये क्या, अनुष्का शर्मा ने अपनी शादी में पहनें दीपिका पादुकोण के झुमके ?

गौरतलब है कि ‘मोहल्ला अस्सी’ फिल्म लेखक काशीनाथ सिंह के उपन्यास ‘काशी का अस्सी’ पर आधारित फ़िल्म है. इस फिल्म की पूरी शूटिंग वाराणसी के अस्सी मोहल्ले और उसके आस पास हुई है. उपन्यास के मुख्य किरदार तन्नी गुरु रहे हैं जिसकी भूमिका फिल्म में सनी देओल निभा रहे हैं जबकि और दूसरे चरित्र में भोजपुरी स्टार रवि किशन हैं. वहीं फिल्म की लीड एक्ट्रेस के रूप में साक्षी तंवर हैं.

इस फिल्म को लेकर बनारस के लोगों में बेहद उत्सुकता थी क्योंकि ये उपन्यास बनारस के अस्सी मोहल्ले के प्रसिद्ध पप्पू के चाय की दुकान पर लगने वाली अड़ी और उसके हास विनोद के गिर्द बुनी गई है जिसमें बनारस के बिन्दास पन का अपना एक चरित्र नज़र आता है. यही वजह है कि इसके रिलीज का बनारस के लोगों को इंतज़ार था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*