नवनीत चतुर्वेदी ने वित्त विभाग पर लगाए आरोप कर दी चौकाने वाली बात…

लखनऊ। स्वतंत्र पत्रकार नवनीत चतुर्वेदी ने लखनऊ  के यूपी  प्रेस कल्ब में  कांफ्रेंस करते हुए सूबे की सरकार पर एक सवालिया निशान खड़ा किया है जिसमें वो साफ-साफ यूपी सरकार से पूछे रहें हैं कि आखिर एक ही काम के अलग-अलग भूगतान कैसे हो सकते हैं।स्वतंत्र पत्रकार नवनीत चतुर्वेदी ने आज एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया। इस आयोजन में पत्रकारों के साथ विभिन्न मुद्दों पर बात की गई , साथ ही नवनीत चतुर्वेदी ने राज्य के वित्त विभाग , पीडब्ल्यूडी के प्रधान सचिव और सीएम योगी को मामले पर संज्ञान में लेने को कहा।

स्वतंत्र पत्रकार ने बताया कि एक रिपोर्ट की मानें  तो लखनऊ में वर्ष 2012 में शुरु किए गए न्यू हाई कोर्ट की बिल्डिंग 1386 करोड़ की लागत  से बनी थी तो वहीं दूसरी रिपोर्ट में इस बिल्डिंग को 771 करोड़ की लागत से बनाया गया है ,एक अन्य रिपोर्ट में  1500 करोड़  की  लागत आई है।

यह भी पढ़ें:भोपाल:आंतकवाद के खिलाफ जंंग मेें फ्रांस –भारत एकसाथ

सबसे आश्चर्य की बात यह हैं कि इन तीनों ही आकंड़ों को निर्माण निगम की वेबसाइट पर अपलोड किया गया है। नवनीत चतुर्वेदी ने कहा कि हाई कोर्ट की असली लागत क्या है ? लगता हैं हाई कोर्ट की लागत को जानने के लिए हाई कोर्ट का ही दरवाजा खटखटाना पड़ेगा?

अगर हम सिग्नेचर बिल्डिंग की बात करें तो  684 करोड़ की लागत में बनी है , तो वहीं इसकी दूसरी रिपोर्ट में कुल लागत 200 करोड़ लिखा गया है. उत्तर प्रदेश में कानून के ये दो महत्वपूर्ण अंग जाने – माने  हैं लेकिन ये दोनों का ही निर्माण कार्य संशय के  घेरे में बना हुआ हैं.

इस मामले में नवनीत चतुर्वेदी ने सरकार से संज्ञान लेने के लिए अपील के साथ ही सीएम योगी से मांग करते हुए कहा कि  वित्तीय अनियमितताओं पर एस.आई.टी टीम गठित कर दोषियों पर सख्त कार्यवाई करें

 

EDITED BY : MAMATA YADAV

 

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

हनुमान की तरह क्या पूरी फिल्म इंडस्ट्री यूपी ले आयेंगे योगी !

  # नोएडा में आबाद टीवी न्यूज इंडस्ट्री के बाद क्या अब हिंदी फिल्म इंडस्ट्री …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com