Breaking News

नहीं उगल रही देश के पांच बड़े राज्यों में ATM मशीन पैसे, नोटबंदी जैसे हुए हालात

ये भी पढ़े – आपने ही विधायक ने कहा -योगी आदित्यनाथ नहीं है काबिल मुख्यमंत्री

इस वजह से लोग परेशान होकर दिन-रात एटीएम के चक्कर काट रहे हैं।  वहीं वित्त राज्य मंत्री एसपी शुक्ला ने कहा कि कुछ राज्यों में कैश की कमी है तो कुछ राज्यों में कैश अधिकता है। वित्त राज्य मंत्री ने कहा कि इस समय देश में करीब सवा लाख करोड़ की नकदी मौजूद है। एसपी शुक्ला ने कहा बहुत जल्द इन हालातों से निजात मिलेगी।

बताया गया है कि इस वक्त बिहार और गुजरात सबसे अधिक कैश संकट के दौर से गुजर रहे हैं। इन राज्यों में एटीएम खाली है और लोग हैरान-परेशान से सड़कों पर घूम-घूमकर एटीएम की चक्कर लगाते दिख रहे हैं। कैश संकट को लेकर बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘नोटबंदी घोटाले का असर इतना व्यापक है कि बैंको ने हाथ खड़े कर रखे हैं। नए नोट सर्कुलेशन से क्यों गायब है।’ उन्होंने सवाल किया।

 तेलंगाना में नकदी संकट
यही हाल तेलंगाना राज्य में भी देखने को मिल रहा है। यहां  कई जगहों के एटीएम में पैसे नहीं होने की शिकायत मिली है। एक व्यक्ति ने कहा कि, एटीएम खाली है और पैसे न मिल पाने की वजह से दिक्कत हो रही है।

 इधर जानकारी मिल रही है कि नकदी संकट को देखते हुए उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बैठक बुलाई है।

कैश के लिए हुए लोग परेशान 


कैश संकट से जूझ रहे इन चार राज्यों के लोगों को फिर से 8 नवंबर 2017 की वो रात (8 बजे, भारतीय समयानुसार) याद आ गई जिस वक्त पीएम मोदी ने अचानक राष्ट्र को दिए अपने संबोधन में विमुद्रिकरण (नोटबंदी) की घोषणा की थी।

क्यों हो रही कैश की कमी


जानकारी के अनुसार बिहार जोन के एजीएम (पीआर) ने बताया है कि कैश डिपॉजिट का फ्लो कम हुआ है। खबरों की माने तो आरबीआई ने कैश संकट की बड़ी वजह त्यौहारी मांग बताई है। खबर यह भी मिल रही है कि नकदी संकट ज्यादा दिनों तक नहीं रहेगा, एक दो दिन में स्थिति सामान्य हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*